रमन सरकार के 28 मौजूदा विधायकों को करना पड़ा हार का सामना

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Dec 13 2018 8:06AM
रमन सरकार के 28 मौजूदा विधायकों को करना पड़ा हार का सामना
Image Source: Google

छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष गौरी शंकर अग्रवाल, कांकेर लोकसभा सीट से सांसद विक्रम उसेंडी, पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी, कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले विधायक रामदयाल उइके चुनाव हार गए हैं।

रायपुर। छत्तीसगढ़ में आठ मंत्रियों समेत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 28 मौजूदा विधायकों को हार का सामना करना पड़ा है। राज्य में इस विधानसभा चुनाव में भाजपा ने महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू की टिकट काट दी थी और 11 मंत्रियों को एक बार फिर से मौका दिया था लेकिन इस चुनाव में आठ मंत्री अपनी सीट नहीं बचा पाए। राज्य में भाजपा ने गृह मंत्री रामसेवक पैकरा पर प्रतापपुर सीट से एक बार फिर भरोसा जताया था। लेकिन जनता ने इस सीट पर कांग्रेस के प्रेम साय सिंह टेकाम को विधायक चुन लिया। टेकाम ने पैकरा को 44,105 मतों से पराजित किया।

वहीं बैकुंठपुर सीट में राज्य के खेल मंत्री भैयालाल रजवाड़े को कोरिया राज परिवार की अंबिका सिंह देव ने 5,339 मतों से पराजित किया। इस बार कद्दावर मंत्रियों अमर अग्रवाल और राजेश मूणत को भी हार का सामना करना पडा। बिलासपुर सीट से नगरीय प्रशासन मंत्री अग्रवाल को कांग्रेस के शैलेष पांडेय ने 11,221 मतों से पराजित किया। वहीं रायपुर पश्चिम सीट लोक निर्माण विभाग के मंत्री राजेश मूणत को कांग्रेस के विकास उपाध्याय ने 12,212 मतों से पराजित किया। इसके साथ ही राज्य के दो प्रमुख आदिवासी मंत्री महेश गागड़ा और केदार कश्यप भी चुनाव हार गए हैं। 

इसे भी पढ़ें: भूपेश बघेल होंगे छत्तीसगढ़ के नए CM, तैयारियां शुरू

भाजपा के वरिष्ठ नेता रहे बलिराम कश्यप के पुत्र स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप को नारायणपुर सीट से कांग्रेस के चंदन कश्यप ने 2,647 मतों से पराजित किया। वहीं बीजापुर सीट से वन मंत्री महेश गागड़ा को कांग्रेस के विक्रम मंडावी ने 21,584 मतों से शिकस्त दी। राज्य में सहकारिता विभाग के मंत्री रहे दयालदास बघेल को नवागढ़ सीट में कांग्रेस के गुरूदयाल सिंह बंजारे ने 33,200 मतों से पराजित किया। वहीं राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री प्रेमप्रकाश पांडेय को भिलाई नगर सीट से कांग्रेस के देवेंद्र यादव ने 2849 वोटों से हराया है। हालांकि इस चुनाव में मुख्यमंत्री रमन सिंह, कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, खाद्य मंत्री पुन्नू लाल मोहले और स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर को जीत मिली है।





रमन सिंह ने राजनांदगांव सीट से कांग्रेस की उम्मीदवार करूणा शुक्ला को 16,933 मतों से पराजित किया ।वहीं मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने रायपुर दक्षिण सीट से कांग्रेस के कन्हैया अग्रवाल को 17,496 मतों से हराया। राज्य में मंत्री अजय चंद्राकर ने कुरूद विधानसभा सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी नीलम चंद्राकर को 12,317 मतों से हराया जबकि मुंगेली सीट से मंत्री मोहले ने कांग्रेस के राकेश पात्रे को 8478 मतों से पराजित किया। इस चुनाव में भाजपा ने मंत्री रमशीला साहू को टिकट नहीं दी थी और उनकी जगह पर जागेश्वर साहू को दुर्ग ग्रामीण सीट से चुनाव मैदान में उतारा था। इस सीट पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ताम्रध्वज साहू ने जागेश्वर साहू को 27,112 मतों से पराजित किया।

इसे भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने किया BJP के शासन का अंत, रमन सिंह ने दिया इस्तीफा

इस चुनाव में विधानसभा अध्यक्ष गौरी शंकर अग्रवाल (कसडोल सीट), कांकेर लोकसभा सीट से सांसद विक्रम उसेंडी (अंतागढ़ सीट), पूर्व कलेक्टर ओपी चौधरी (खरसिया सीट), कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले विधायक रामदयाल उइके (पाली तानाखार सीट) चुनाव हार गए हैं। हालांकि इस चुनाव में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बावजूद कांग्रेस के आठ मौजूद विधायक भी अपनी सीट नहीं बचा पाए हैं। राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 90 सीटों में से 68 सीटों पर जीत मिली है। वहीं भाजपा केवल 15 सीटों पर ही जीत सकी। वहीं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ :जे: को पांच सीटों पर तथा बहुजन समाज पार्टी को दो सीटों पर जीत हासिल हुई है। राज्य में पिछले 15 वर्षों से भाजपा की सरकार थी। वर्ष 2013 के चुनाव में भाजपा को 49 सीटों पर, कांग्रेस को 39 सीटों पर, बहुजन समाज पार्टी को एक सीट पर तथा निर्दलीय को एक सीट पर जीत मिली थी।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video