'डबल इंजन सरकार का एक इंजन नाकाम', फॉक्सकॉन परियोजना के गुजरात जाने पर आदित्य का कटाक्ष

aditya thackeray
ANI
शिवसेना के बागी विधायक और राज्य के उद्योग मंत्री उदय सामंत के गृह जिले रत्नागिरी में ठाकरे ने ‘शिव संवाद यात्रा’ के तहत पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री और मंत्री परियोजना के विवरण के बारे में बिल्कुल अनजान थे।
रत्नागिरी (महाराष्ट्र)। शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने वेदांता-फॉक्सकॉन द्वारा सेमीकंडक्टर संयंत्र स्थापित करने के लिए महाराष्ट्र के बजाय गुजरात को चुनने पर शुक्रवार को एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ‘‘डबल इंजन वाली सरकार का एक इंजन नाकाम हो गया है।’’ शिवसेना के बागी विधायक और राज्य के उद्योग मंत्री उदय सामंत के गृह जिले रत्नागिरी में ठाकरे ने ‘शिव संवाद यात्रा’ के तहत पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री और मंत्री परियोजना के विवरण के बारे में बिल्कुल अनजान थे। ठाकरे ने रैली में कहा, ‘‘यह परियोजना महाराष्ट्र से बाहर कैसे चली गई, जब हमने वेदांता के साथ इतनी बैठकें की थीं? मुख्यमंत्री और उद्योग मंत्री इस बारे में अनजान थे।’’

इसे भी पढ़ें: शिंदे खेमे ने SC में असली शिवसेना को लेकर तत्काल सुनवाई का किया अनुरोध, बुधवार को हो सकती है हियरिंग

ठाकरे ने कहा कि ऐसी स्थिति में किसी अन्य राज्य में मुख्यमंत्री उद्योग मंत्री का इस्तीफा मांग लेते। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार इस बात से भी अनजान है कि एक बड़ा ‘ड्रग पार्क’ भी राज्य के हाथ से निकल गया है और आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश तथा गुजरात में बनने वाला है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘डबल इंजन वाली सरकार का एक इंजन कैसे नाकाम हो गया?’’ भाजपा ‘डबल इंजन’ सरकार का इस्तेमाल केंद्र और राज्य में अपनी सरकार के लिए करती है, जिसका दावा है कि इससे निर्बाध विकास में मदद मिलती है। ठाकरे ने कहा कि राज्य सरकार एयरबस की एक अन्य परियोजना से भी अनजान थी, जो नागपुर में शुरू हो सकती है। ठाकरे ने कहा कि उनके द्वारा इस मुद्दे को उठाए जाने के बाद राज्य सरकार जगी और कहा कि वे यह सुनिश्चित करेंगे कि यह परियोजना राज्य में आए। ठाकरे ने शिंदे खेमे के बागी विधायकों पर भी निशाना साधा और कहा कि उन्होंने उनके पिता और तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बीमार होने पर ‘‘पीठ में छुरा घोंपा।’’ 

इसे भी पढ़ें: देवेंद्र फडणवीस बोले, शिवसेना में विभाजन के लिए उद्धव की कार्य शैली जिम्मेदार

वेदांता-फॉक्सकॉन द्वारा सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले निर्माण इकाई स्थापित करने के लिए मंगलवार को गुजरात सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप शुरू हो गया। समझौता ज्ञापन के अनुसार, भारतीय समूह वेदांता और ताइवान की इलेक्ट्रॉनिक्स निर्माण कंपनी फॉक्सकॉन का संयुक्त उद्यम राज्य में सेमीकंडक्टर और डिस्प्ले निर्माण इकाई स्थापित करेगा। वेदांता-फॉक्सकॉन इकाई स्थापित करने के लिए 1,54,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी, जिससे रोजगार के एक लाख अवसर पैदा होने की उम्मीद है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़