'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान का दूसरा चरण शुरू, राय बोले- आंतरिक स्रोतों से होता है 30% प्रदूषण

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 19, 2021   16:24
'रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ' अभियान का दूसरा चरण शुरू, राय बोले- आंतरिक स्रोतों से होता है 30% प्रदूषण

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि विभिन्न अनुसंधानों में यह बात सामने आयी है कि दिल्ली में 30 फीसदी प्रदूषण आंतरिक स्रोतों से होता है और वाहनों से होने वाले प्रदूषण की हिस्सेदारी इसमें सबसे ज्यादा है।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लक्ष्य से दिल्ली सरकार ने शुक्रवार से शहर के 100 क्रांसिंग पर ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान के दूसरे चरण की शुरूआत की। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय आज आईटीओ क्रासिंग पर पहुंचे और लोगों से इस अभियान में साथ देने और प्रदूषण से निपटने में मददगार बनने की अपील की। यह अभियान 18 अक्टूबर से शुरू हुआ था और 18 नवंबर को समाप्त होना था, लेकिन शहर में वायु प्रदूषण के स्तर को देखते हुए सरकार ने शुक्रवार से इसके दूसरे चरण की शुरुआत का फैसला लिया। 

इसे भी पढ़ें: पर्यावरण व प्रदूषण नियमों के अनुपालन से समझौता नहीं किया जा सकता : न्यायालय 

राय ने कहा कि विभिन्न अनुसंधानों में यह बात सामने आयी है कि दिल्ली में 30 फीसदी प्रदूषण आंतरिक स्रोतों से होता है और वाहनों से होने वाले प्रदूषण की हिस्सेदारी इसमें सबसे ज्यादा है। उन्होंने कहा कि रोजाना एक व्यक्ति औसतन दिन भर में यातायात जाम और क्रासिंग आदि पर 20 से 25 मिनट तक ईंधन जलाता है। आईटीओ क्रांसिग (चौराहे) पर पत्रकारों से बातचीत में राय ने कहा, ‘‘‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान का मुख्य लक्ष्य शहर में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करना है। हमने इस अभियान को 15 दिन और, तीन दिसंबर तक जारी रखने का फैसला लिया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।