Breaking: अखिलेश यादव का आरोप, दिल्ली में रोका गया मेरा हेलीकॉप्टर, हारती हुई भाजपा हताशा से भरी

akhilesh yaadav
अंकित सिंह । Jan 28, 2022 3:17PM
अपने ट्वीट में अखिलेश यादव ने लिखा कि मेरे हैलिकॉप्टर को अभी भी बिना किसी कारण बताए दिल्ली में रोककर रखा गया है और मुज़फ़्फ़रनगर नहीं जाने दिया जा रहा है। जबकि भाजपा के एक शीर्ष नेता अभी यहाँ से उड़े हैं। हारती हुई भाजपा की ये हताशा भरी साज़िश है। जनता सब समझ रही है।

उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर चुनावी दल लगातार प्रचार प्रसार कर रहे हैं। आज इसी कड़ी में अखिलेश यादव को मुजफ्फरनगर में राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष जयंत चौधरी के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करना था। इसके लिए अखिलेश यादव को मुजफ्फरनगर भी पहुंचना था। इन सबके बीच अखिलेश यादव ने बड़ा आरोप लगाया है। अखिलेश यादव ने दावा किया है कि दिल्ली में मेरा हेलीकॉप्टर रोका गया है। उन्होंने कहा कि बिना कारण बताए मेरा हेलीकॉप्टर रोक कर रखा गया है और मुजफ्फरनगर नहीं जाने दिया जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने भाजपा पर हमला किया। उन्होंने कहा कि हारती हुई भाजपा की यह हताशा भरी साजिश है।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश चुनाव में पहले और दूसरे चरण का मतदान पश्चिमी उत्तर प्रदेश में होना है। अपने ट्वीट में अखिलेश यादव ने लिखा कि मेरे हैलिकॉप्टर को अभी भी बिना किसी कारण बताए दिल्ली में रोककर रखा गया है और मुज़फ़्फ़रनगर नहीं जाने दिया जा रहा है। जबकि भाजपा के एक शीर्ष नेता अभी यहाँ से उड़े हैं। हारती हुई भाजपा की ये हताशा भरी साज़िश है। जनता सब समझ रही है। वहीं समाजवादी पार्टी की ओर से ट्वीट किया गया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के पश्चिमी यूपी के दौरे से डरी भाजपा सरकार। दिल्ली से मुजफ्फरनगर हेलिकॉप्टर की अकारण रोकी उड़ान। लोकतंत्र की हत्या कर रही सरकार। चाहे जितने हथकंडे अपना ले दंभी सत्ता, जनता देगी जवाब। भाजपा सरकार के दिन है बचे चार!

इसे भी पढ़ें: UP Election 2022: भाजपा ने जारी की 91 उम्मीदवारों की एक और सूची, कई दिग्गजों का नाम शामिल

इससे पहले अखिलेश यादव ने समाचार चैनलों पर दिखाए जा रहे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के ओपिनियन पोल पर तंज करते हुए इसे ओपियम पोल करार दिया था। यादव ने अपने संबोधन में कहा, भाजपा के नेता अपने बयानों से चुनाव को दूसरी दिशा में ले जाना चाहते हैं। व्हाट्सऐप पर तमाम भ्रांतियां फैलाई जा रही है। ओपिनियन पोल वास्तव में ओपियम (अफीम) पोल है। हमें इससे सावधान रहना है। गौरतलब है कि सपा ने निर्वाचन आयोग से समाचार चैनलों पर दिखाए जा रहे ओपिनियन पोल को आचार संहिता का उल्लंघन करार देते हुए बंद कराने की मांग की थी। इसे लेकर भाजपा ने सपा पर निशाना साधा था। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़