कोयला संकट की खबरों के बीच गृह मंत्री ने बुलाई आपात बैठक, ऊर्जा और कोयला मंत्री समेत कई अफसरों से हुई चर्चा

कोयला संकट की खबरों के बीच गृह मंत्री ने बुलाई आपात बैठक, ऊर्जा और कोयला मंत्री समेत कई अफसरों से हुई चर्चा

आपको बता दें कि देश के कई राज्यों में कोयले की कमी के कारण बिजली की आपूर्ति बाधित होने की संभावनाएं जताई जा रही है। इसको लेकर दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्य सरकारों ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा था। इसी बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आपात बैठक बुलाई।

नयी दिल्ली। देश में कोयले की कमी के कारण बिजली संकट पैदा होने की संभावना जताई जा रही है। इसी बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आपात बैठक बुलाई। इस बैठक में ऊर्जा मंत्री आरके सिंह, कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे। इसके अलावा बैठक में नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) के अधिकारी भी शामिल हुए। 

इसे भी पढ़ें: बिजली संकट: केजरीवाल ने फिर कहा- स्थिति गंभीर है, हालात सुधारने के लिए कर रहे काम 

कई राज्यों में कोयला भी भारी कमी !

आपको बता दें कि देश के कई राज्यों में कोयले की कमी के कारण बिजली की आपूर्ति बाधित होने की संभावनाएं जताई जा रही है। इसको लेकर दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्य सरकारों ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा था। इतना ही नहीं बीते दिनों केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच तकरार भी देखने को मिली थी।

NTPC ने बिजली आपूर्ति आधी कर दी

वहीं दिल्ली के ऊर्जा मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा कि एनटीपीसी ने शहर को दी जाने वाली 4,000 मेगावाट बिजली की आपूर्ति को आधा कर दिया है, जिसके बाद दिल्ली सरकार महंगी गैस आधारित बिजली के साथ-साथ उच्च बाजार दर पर इसे खरीदने पर निर्भर है।

सत्येन्द्र जैन ने दावा किया कि एनटीपीसी के अधिकतर संयंत्र 55 फीसदी क्षमता के साथ काम कर रहे हैं क्योंकि उनके पास केवल एक-दो दिन का कोयला भंडार शेष है। उन्होंने बताया कि दिल्ली अधिकतर बिजली एनटीपीसी से खरीदती है, लेकिन इसकी आपूर्ति आधी कर दी गई है। 

इसे भी पढ़ें: देश में कोयले का पर्याप्त भंडार, कोयला मंत्रालय ने कहा- बिजली आपूर्ति में बाधा की आशंका गलत है 

इससे पहले आरके सिंह ने कहा था कि हमारे पास आज के दिन में कोयले का चार दिन से ज़्यादा का औसतन स्टॉक है, हमारे पास प्रतिदिन स्टॉक आता है। कल जितनी खपत हुई, उतना कोयले का स्टॉक आया है। इसी बीच आरके सिंह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भ्रम फैलाने का भी आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि हमारे पास पर्याप्त स्टॉक है और बिजली का कोई संकट नहीं है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।