ट्वीट करने पर दिग्विजय सिंह के खिलाफ एक और शिकायत

ट्वीट करने पर दिग्विजय सिंह के खिलाफ एक और शिकायत

आरोप है कि दिग्विजय ने आईटी सेल के संयोजक शिवराज डाबी को लेकर भ्रम फैलाने वाला जो ट्वीट किया है, उससे उनकी भावनाएं आहत हुई हैं। इसमें उन्होंने शिवराज को एफबीआई का मास्ट वांटेड बताया है। ऐसे में दिग्विजय सिंह के खिलाफ मामला दर्ज होना चाहिए।

भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के खिलाफ बीजेपी नेताओं ने भोपाल क्राइम ब्रांच में एक और शिकायत की है। इस बार बीजेपी की तरफ से पार्टी के प्रदेश आईटी सेल संयोजक शिवराज सिंह डाबी को लेकर किए गए ट्वीट को लेकर शिकायत की गई है। इस बार भाजपा नेताओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और आईटी सेल के संयोजक शिवराज डाबी को लेकर एक ट्वीट को आधार बनाया है। उनका कहना है कि इससे उनकी भावनाएं आहत हुई हैं।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार पर दिल्ली में दो दिनों से जारी माथापच्ची

भोपाल क्राइम ब्रांच एएसपी निश्चय झारिया की माने तो सोमवार शाम बीजेपी नेता ब्रजेश लूनावत समेत अन्य लोग आए थे। उन्होंने एक शिकायत आवेदन देते हुए दिग्विजय सिंह के ट्वीट की फोटो कॉपी भी दी है। उनका आरोप है कि दिग्विजय ने आईटी सेल के संयोजक शिवराज डाबी को लेकर भ्रम फैलाने वाला जो ट्वीट किया है, उससे उनकी भावनाएं आहत हुई हैं। इसमें उन्होंने शिवराज को एफबीआई का मास्ट वांटेड बताया है। ऐसे में दिग्विजय सिंह के खिलाफ मामला दर्ज होना चाहिए। यह शिकायत पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष ब्रजेश लूनावत, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर, शैलेन्द्र शर्मा और शिवराज सिंह डाबी ने की है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस में सब ठीक नहीं, दिग्विजय सिंह ने खड़े किए सवाल

इससे पहले भी दो मामलों में दिग्विजय सिंह के खिलाफ एफआईआर हो चुकी है। जिसमें उन्हें नामजद आरोपी बनाया गया है। वही अब पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ भोपाल क्राइम ब्रांच में एक और शिकायत की गई है। दिग्विजय सिंह के खिलाफ सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कूटरचित वीडियो वायरल करने के आरोप में क्राइम ब्रांच ने पूर्व मुख्यमंत्री सिंह समेत 12 लोगों पर 14 जून को केस दर्ज किया था। पुलिस ने ये कार्रवाई भाजपा द्वारा की गई शिकायत के आधार पर की थी। पुलिस ने एक एफआईआर में 11 लोगों को आरोपी बनाया है, जबकि दूसरी एफआईआर में दिग्विजय सिंह आरोपी हैं। जबकि भोपाल में 25 जून को दिग्विजय सिंह के खिलाफ टीटी नगर पुलिस थाने में एफआईआर की गई। इस बार पेट्रोल-डीजल के दामों के खिलाफ साइकिल रैली में सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर उन पर एफआईआर दर्ज की गई थी। वही जून के महिनें में दिग्विजय सिंह के खिलाफ यह तीसरी शिकायत की गई है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।