एक और विधायक ने छोड़ा सपा का साथ, अखिलेश पर लगाया पार्टी की हिंदू छवि बनाने का आरोप

Akhilesh yadav
अंकित सिंह । Jan 28, 2022 12:12PM
इकराम कुरैशी ने कहा कि जब मुलायम सिंह यादव का पार्टी में दबदबा था तो वफादार नेताओं की कद्र हुआ करती थी। लेकिन अब उनकी पार्टी में नहीं चल रही है। परिस्थितियां पहले से ज्यादा बदल चुकी हैं। वहां चापलूस हावी हो गए हैं।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर नेताओं का पाला बदलना लगातार जारी है। इन सब के बीच समाजवादी पार्टी से मुरादाबाद देहात के विधायक हाजी इकराम कुरैशी ने इस्तीफा दे दिया है। वह अब कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। इकराम कुरैशी ने अखिलेश यादव पर समाजवादी पार्टी की छवि को हिंदूवादी बनाने का आरोप लगाया और दावा किया कि मुसलमान नेताओं को अब किनारे लगाया जा रहा है। उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर मुरादाबाद देहात से विधानसभा चुनाव लड़ने का भी ऐलान कर दिया है। इससे पहले कुंदरकी से विधायक हाजी रिजवान भी टिकट कटने के बाद बसपा में शामिल हो गए थे।

इसे भी पढ़ें: प्रयास तो बहुत हो रहे हैं, मगर आसान नहीं है युवा मतदाताओं को लुभाना

इकराम कुरैशी ने कहा कि जब मुलायम सिंह यादव का पार्टी में दबदबा था तो वफादार नेताओं की कद्र हुआ करती थी। लेकिन अब उनकी पार्टी में नहीं चल रही है। परिस्थितियां पहले से ज्यादा बदल चुकी हैं। वहां चापलूस हावी हो गए हैं। उन्होंने दावा किया कि सपा के लिए उन्होंने 28 सालों तक खून पसीना बहाया है। पार्टी जिला अध्यक्ष रखकर भी सपा के जनाधार को बढ़ाने के लिए उन्होंने काफी मेहनत की है। समाजवादी पार्टी ने टिकट काटकर मेरे साथ अच्छा नहीं किया। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता के बीच रहकर मैंने उन में विश्वास पैदा किया है जिसे बर्बाद नहीं होने दूंगा।

इसे भी पढ़ें: UP Election 2022: योगी का अखिलेश पर तंज, वे जिन्ना के उपासक है, हम सरदार पटेल के पुजारी हैं

इतना ही नहीं, उन्होंने अखिलेश यादव पर आरोप लगाते हुए यह भी कह दिया कि आजम खान को पार्टी की छवि हिंदूवादी बनाने के लिए ही जेल में डलवाया गया है। उन्होंने दावा किया कि इस बार के चुनाव में हम जनता को सच बताएंगे और समाजवादी पार्टी का जनाजा निकालेंगे। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी में अब मुसलमानों का सम्मान नहीं है। मुस्लिम नेताओं का लगातार अपमान किया जा रहा है। समाजवादी पार्टी में मुस्लिम नेताओं का भविष्य सुरक्षित नहीं है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़