कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का भारत बंद आज सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक, इन रास्तों से जाने से बचे

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का भारत बंद आज सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक,  इन रास्तों से जाने से बचे

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि, सोमवार शाम 4 बजे तक बंद रहेगा। लोगों से अनुरोध है कि लंच के बाद ही निकलें, नहीं तो जाम में फंसे रहेंगे। एम्बुलेंस को, डॉक्टरों को, ज्यादा ज़रूरतमंदों को निकलने दिया जाएगा। दुकानदारों से भी अपील की है कि आज दुकानें बंद रखें।

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम), किसान संघ ने पिछले साल सितंबर में संसद द्वारा पारित केंद्र के तीन कृषि कानूनों के विरोध में 27 सितंबर को भारत बंद करने का ऐलान किया है। बता दें कि इसकी समयसीमा 10 घंटे तक रहेगी। भारत किसान संघ ने देश के लोगों और राजनीतिक दलों से लोकतंत्र और संघवाद के सिद्धांतों की रक्षा के लिए किसानों के साथ खड़े होने की अपील भी की है। जानकारी के लिए बता दें कि, बुधवार को किसानों के विरोध प्रदर्शन को 300 दिन पूरे हो गए हैं और अब तक इस प्रदर्शन के थमने के कोई संकेत नहीं दिख रहे हैं। पिछले 10 महीनों से, तीन कृषि कानून पारित होने के बाद, प्रदर्शनकारी किसानों ने कई भारत बंद, चक्का जाम हड़ताल और अन्य प्रकार के विरोध का आह्वान किया है। किसानों के अंब्रेला यूनियन ने कहा कि भारत बंद सुबह छह बजे से शुरू होगा और सोमवार 27 सितंबर को शाम चार बजे तक जारी रहेगा। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि, सोमवार शाम 4 बजे तक बंद रहेगा। लोगों से अनुरोध है कि लंच के बाद ही निकलें, नहीं तो जाम में फंसे रहेंगे। एम्बुलेंस को, डॉक्टरों को, ज्यादा ज़रूरतमंदों को निकलने दिया जाएगा। दुकानदारों से भी अपील की है कि आज दुकानें बंद रखें।

इसे भी पढ़ें: योगी ने किसानों को दिया तोहफा : गन्ना मूल्य में प्रति कुंतल 25 रुपये का इजाफा

सुरक्षा के कड़े इतंजाम, कई जवानों को किया गया तैनात

इस बीच, दिल्ली और हरियाणा पुलिस ने विभिन्न किसान संगठनों द्वारा दिए गए भारत बंद के आह्वान को देखते हुए एक एडवाइजरी जारी की है। इस एडवाइजरी में, हरियाणा पुलिस ने कहा है कि राज्य सरकार के निर्देशों के अनुसार हरियाणा में नागरिक और पुलिस प्रशासन द्वारा कई बंदोबस्त किए गए हैं। पुलिस ने यह भी कहा कि सोमवार को बंद के कारण लोगों को राज्य की विभिन्न सड़कों और राजमार्गों पर यातायात में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। वहीं दिल्ली पुलिस ने गश्त तेज कर दी है और कई जवानों को तैनात किया गया है। पुलिस के अनुसार, गश्त तेज कर दी गई हैऔर राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने वाले हर वाहन की पूरी जांच की जा रही है।अधिकारी ने कहा कि शहर की सीमाओं पर तीन विरोध स्थलों से किसी भी प्रदर्शनकारी को दिल्ली में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।अमृतसर के पुलिस अधिकारी संजीव कुमार ने कहा कि, जहां-जहां पर किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, वहां पर हमने सुबह से ही फोर्स को तैनात किया हुआ है। हमने सुरक्षा के बहुत पुख्ता इंतज़ाम किए हुए हैं।

इसे भी पढ़ें: Bharat Bandh: किसानों के ‘भारत बंद’ पर बोलीं मायावती, कहा- विरोध प्रदर्शन को बसपा का समर्थन

कहा-कहा हो रहा प्रदर्शन?

अंबाला: शंभू टोल प्लाजा के पास दिल्ली-अमृतसर राष्ट्रीय राजमार्ग को प्रदर्शनकारियों ने बंद कर दिया है। एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि, संयुक्त किसान मोर्चा ने आज सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक के बंद का ऐलान किया था, हमने यहां सुबह 6 बजे बंद कर दिया। स्कूल या अस्पताल के लिए जाने दे रहे हैं।

कुरुक्षेत्र: शाहबाद में दिल्ली-अमृतसर राष्ट्रीय राजमार्ग को कृषि क़ानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों ने बंद किया है। 

गाज़ीपुर बॉर्डर पर कृषि क़ानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक बंद का ऐलान किया गया है।  

हरियाणा: रोहतक में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 'भारत बंद' के चलते प्रदर्शनकारियों ने स्टेट हाइवे बंद किया। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।