लेफ्टिनेंट भावना कंठ रचेंगी इतिहास, Republic Day पर लड़ाकू विमान उड़ाने वाली पहली महिला बनेंगी

Bhawana Kanth
रेनू तिवारी । Jan 20, 2021 6:17PM
लेफ्टिनेंट भावना कंठ वर्तमान में राजस्थान के एक एयरबेस में तैनात है जहां वह मिग -21 बाइसन लड़ाकू विमान उड़ाती है, कंठ भी भारतीय वायुसेना में पहली महिला लड़ाकू पायलटों में से एक है।

फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बनने वाली हैं। वह भारतीय वायु सेना (आईएएफ) की झांकी का एक हिस्सा होगीं जो LCA तेजस, लाइट कॉम्बेट हेलीकॉप्टर, आकाश मिसाइल और सुखोई 30MKI लड़ाकू विमान के मॉक-अप का प्रदर्शन करेगी।

भावना कांत रचने जा रही हैं इतिहास

लेफ्टिनेंट भावना कंठ वर्तमान में राजस्थान के एक एयरबेस में तैनात है जहां वह मिग -21 बाइसन लड़ाकू विमान उड़ाती है, कंठ भी भारतीय वायुसेना में पहली महिला लड़ाकू पायलटों में से एक है। अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह के साथ, कंठ को 2016 में पहली महिला लड़ाकू पायलट के रूप में भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया था। लेफ्टिनेंट भावना कंठ ने गणतंत्र दिवस पर झांकी का हिस्सा बनने के बारे में बात करते हुए कहा "मैं बचपन से ही टेलीविजन पर गणतंत्र दिवस की परेड देखती थी और यह गर्व की बात है कि अब मैं इसमें भाग ले रही हूं। मैं राफेल और सुखोई सहित अन्य फाइटर जेट्स उड़ाना पसंद करूंगी।

इसे भी पढ़ें: संविधान को जानें: कैसे विधेयक बन जाता है कानून? पढ़ें संविधान संशोधन की पूरी प्रक्रिया 

स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने दी बधाई

इस उपलब्धि पर भारत के स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भावना कंठ की एक शानदार तस्वीर शेयर करते हुए उनको बधाई दी है। डॉ हर्षवर्धन ने सोशल मीडिया पर लिखा सशक्त महिलाओं का नेतृत्व वाली लेफ्टिनेंट भावना कंठ गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने वाली पहली महिला फाइटर पायलट बनने वाली हैं। ये वाकई पूरे देश के लिए गर्व का क्षण है।

इसे भी पढ़ें: भारत से मिली हार के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम में ‘व्यापक फेरबदल’ संभव : वार्न 

कौन है फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ?

भावना कंठ भारत की पहली महिला फाइटर पायलटों में से एक हैं। वह अपने दो साथियों, मोहना सिंह और अवनी चतुर्वेदी के साथ पहली लड़ाकू पायलट के रूप में जानी जाती हैं। जून 2016 में तीनों को भारतीय वायु सेना के लड़ाकू स्क्वाड्रन में शामिल किया गया था। भारत सरकार द्वारा प्रायोगिक आधार पर महिलाओं के लिए भारत वायु सेना में लड़ाकू स्ट्रीम खोलने का निर्णय लेने के बाद, इन तीन महिलाओं को इस कार्यक्रम के लिए चुना गया। मई 2019 में, वह लड़ाकू अभियानों को करने के लिए अर्हता प्राप्त करने वाली भारत की पहली महिला फाइटर पायलट बनीं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़