इंदौर में आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद हुआ बड़ा खुलासा, तालिबानियों से मिला है कनेक्शन

Indore
सुयश भट्ट । Aug 31, 2021 1:48PM
प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि आरोपियों के पास से 200 आपत्तिजनक सामग्री और दस्तावेज,पेनड्राइव मिली है। इसके साथ ही वहाट्सएप चैट मिले हैं जिनमें पाकिस्तान से ही नहीं बल्कि तालिबान से भी बातचीत के संकेत आएं हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में दंगों की साजिश के आरोप में गिरफ्तार किए गए आरोपियों को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि इन आरोपियों का का तालिबानी कनेक्शन है। वहीं आरोपियों के पास से मिले कई अहम सुराग से इसका खुलासा हुआ है।

इसे भी पढ़ें:ग्वालियर बीजेपी के महानगर अध्यक्ष का वीडियो हुआ वायरल,जूते पहन कर दी पुष्पांजलि और पूर्णाहुति 

दरअसल प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि आरोपियों के पास से 200 आपत्तिजनक सामग्री और दस्तावेज,पेनड्राइव मिली है। इसके साथ ही वहाट्सएप चैट मिले हैं जिनमें पाकिस्तान से ही नहीं बल्कि तालिबान से भी बातचीत के संकेत आएं हैं और अब उसकी जांच हो रही है।

उन्होंने आगे कहा कि जो भी सबूत मिले है उसे वेरीफाई कराया जा रहा है। गृह मंत्री ने कहा कि हमने इंदौर को अलर्ट मोड पर किया है। इसके जैसे प्रकरण जैसे जैसे सामने आएंगे पुलिस सख्ती से आगे कार्रवाई करेगी। देशद्रोह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और तालिबानी सोच भी मध्यप्रदेश में बर्दाश्त नहीं होगी। नरोत्तम ने कहा कि जांच के लिए पुलिस टीम बनाई गई थी और यह पकड़े गए हैं। आगे भी लोग पकड़े जाएंगे।

इसे भी पढ़ें:तालिबान के समर्थन में उतरे बूम-बूम अफरीदी, बोले- इस बार उनका रूख पॉजिटिव, महिलाओं को करने देंगे नौकरी 

आपको बता दें इंदौर की खजराना पुलिस ने दंगों की साजिश रचने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया था। आरोपी जावेद खान, अल्तमस, इमरान अंसारी, सैयद इमरान अली सोशल मीडिया के माध्यम अफवाह फैला रहे थे।

वहीं इंदौर एसपी आशुतोष बागरी के मुताबिक चारों आरोपी इंदौर में बड़े दंगे भड़काने की साजिश कर रहे थे और गोरिल्ला टेक्निक के जरिए शहर का माहौल बिगाड़ने वाले थे। लेकिन इससे पहले कि वह कामयाब हो पाते पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़