UP Assembly Election 2022 | पश्चिमी यूपी में ताबड़तोड़ प्रचार में जुटी BJP, सहारनपुर का दौरा करेंगे अमित शाह, नड्डा ने विपक्ष को घेरा

Amit Shah
रेनू तिवारी । Jan 29, 2022 9:33AM
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को सहारनपुर के दौरे पर आएंगे और विधानसभा और सहारनपुर विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार करेंगे। यह जानकारी भाजपा के एक नेता ने शुक्रवार को दी।

सहारनपुर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को सहारनपुर के दौरे पर आएंगे और विधानसभा और सहारनपुर विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार करेंगे। यह जानकारी भाजपा के एक नेता ने शुक्रवार को दी। सहारपुर से भाजपा उम्मीदवार एवं पूर्व विधायक राजीव गुम्बर ने बताया कि गृहमंत्री अमित शाह शनिवार को मुजफरनगर से सड़क मार्ग से देवबंद आयेंगे। उन्होंने बताया कि शाह देवबंद में आधा घण्टा रुककर भाजपा प्रत्याशी ब्रजेश सिंह के समर्थन में जनसम्पर्क करेंगे और उसके बाद सहारनपुर रवाना होंगे। उन्होंने बताया कि शाह सहारनपुर ग्राम कोटा के इन्द्रप्रस्थ कालेज के कार्यक्रम में मतदाताओं के साथ सवांद करेंगे। उन्होंने बताया कि शाह सायं साढे पांच बजे दिल्ली रोड पर स्थित एक होटल के हॉल में पार्टी के पदाधिकारियों ओर कार्यकर्ताओ के साथ बैठक करेंगे। उन्होंने बताया कि इसके बाद शाह शारदा नगर में जनसम्पर्क करेंगे और साढे 6 बजे सरसावा एयरपोर्ट से दिल्ली प्रस्थान करेंगे।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में गाड़ी में तेल या गैस डलवाने के लिए जल्द वैध पीयूसी जरूरी होगा: दिल्ली सरकार 

इसके अलावा भाजपा के बड़े-बड़े दिग्गज नेता चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने शुक्रवार को समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव की जिन्ना वाली टिप्पणी पर परोक्ष रूप से चुटकी ली। नड्डा ने हालांकि मोहम्मद अली जिन्ना का नाम नहीं लिया। प्रभावी मतदाता संवाद को संबोधित करते हुए नड्डा ने कहा, ऐसा क्यों है कि अखिलेश यादव को आज भारत के विभाजन के लिए जिम्मेदार व्यक्ति की याद आती है, आखिर क्यों उन्हें सरदार वल्लभभाई पटेल की याद नहीं आती हैं, जिन्होंने देश को एकजुट किया। गौरतलब हैं कि 31 अक्टूबर, 2021 को हरदोई में आयोजित एक कार्यक्रम में अपने संबोधन में, यादव ने महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, सरदार पटेल और मुहम्मद अली जिन्ना की बराबरी की थी।

इसे भी पढ़ें: भाजपा से सावधान रहें! वोट की खातिर उसने कृषि कानून वापस लिये: अखिलेश यादव 

उन्होंने कहा था, सरदार पटेल, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और (मुहम्मद अली) जिन्ना ने एक ही संस्थान में पढ़ाई की और बैरिस्टर बने। उन्होंने (भारत को) आजादी दिलाने में मदद की और कभी किसी संघर्ष से पीछे नहीं हटे। समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए नड्डा ने दावा किया, सपा के घोषणापत्र में भू-माफिया, बालू माफिया, अपहरण माफिया और उद्योग माफिया हैं,उनकी सरकार में महिलाएं असुरक्षित थीं, कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत खराब थी। आज माफिया या तो आत्मसर्मपण कर रहे हैं या जेल जा रहे हैं, या उत्तर प्रदेश छोड़ रहे हैं। सपा के उम्मीदवार या तो जेल में हैं या जमानत पर हैं। नड्डा ने शुक्रवार को विपक्षी दलों समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस पर निशाना साधा और भाजपा की केंद्र व राज्‍य सरकार की उपलब्धियां गिनाई। नड्डा ने कहा, ‘‘समाजवादी पार्टी काम के आधार पर वोट मांगने कभी नहीं आई, वह तो हर बार चुनाव में नए वादे करते और आगे बढ़ जाते परंतु भारतीय जनता पार्टी रिपोर्ट कार्ड के आधार पर ही आगे बढ़ी है।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से पूछा कि क्या समाजवादी पार्टी 2017 में काम के आधार पर वोट मांगने आई। उन्होंने कहा कि हर बार सपा चुनाव के वक्त नए-नए वादे करके आती है और बाद में आगे बढ़ जाती है परंतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिखाया है कि अब पार्टी रिपोर्ट कार्ड के आधार पर ही आगे बढ़ेगी और भाजपा ने जो कहा है वह करके भी दिखाया है। उन्होंने मतदाताओं से कहा, ‘‘आप चुनाव में वोट देने जा रहे हैं तो आपके पास चुनने का आधार क्या है, तो एक बार तौल कर देखिए कि किसने क्या कहा था और वह पूरा हुआ या नहीं हुआ।’’ नड्डा ने दावा किया कि भाजपा ने जो कहा उसे पूरा किया। नड्डा ने दावा किया कि भाजपा ने जो कहा उसे पूरा किया। उन्होंने किसानों की चर्चा करते हुए कहा, ‘‘अभी पिछले दिनों किसानों के कई नेता बन गए और उन्होंने अपने को नेता कहलवाया, इससे किसानों की हालत खराब होती रही।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जो काम किसानों के लिए नरेंद्र मोदी ने किया वह अभी तक किसी ने नहीं किया है। 2014 से पहले 22 हजार करोड़ रुपये का कृषि बजट होता था लेकिन अब यह बजट एक लाख 23 हजार करोड़ रुपये का होता है। यह बजट बताता है कि किसानों के लिए समर्पण किसका है। किसानों की लागत का डेढ़ गुना मूल्य देने का काम भी प्रधानमंत्री ने किया है।’’ कांग्रेस पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने दस वर्ष में 51 हजार करोड़ रुपये कर्ज माफ किया परंतु भाजपा सरकार में अब तक 10 करोड़ 50 लाख किसानों के खाते में एक लाख 80 हजार करोड़ रुपये प्रधानमंत्री किसान निधि के जरिये भेजा है। उन्होंने किसानों के कल्‍याण के लिए चलाई गई योजनाओं का आंकड़ा वार ब्यौरा दिया।

बसपा प्रमुख मायावती पर आरोप लगाते हुए नड्डा ने कहा, ‘‘मायावती की सरकार में उत्तर प्रदेश में 22 चीनी मिलें बिकीं तथा 19 बंद हो गईं, वहीं अखिलेश यादव की सरकार में 11 चीनी मिलें बंद हो गई।’’ उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ के शासन में तीन चीनी मिलें बढ़ गई हैं तथा एक लाख 40 हजार करोड़ रुपये गन्ने का भुगतान किसानों को किया गया जिसमें अखिलेश यादव की सरकार के दौरान बाकी 11 हजार करोड़ रुपये का भुगतान भी शामिल है।’’ नड्डा ने शाहजहांपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी राज्‍य सरकार के संसदीय कार्य व वित्त मंत्री सुरेश खन्‍ना के लिए शहर के खिरनी बाग मोहल्ले में मतदाताओं से संपर्क करके वोट मांगा। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़