अखिलेश यादव को भाजपा विधायक ने दी बड़ी चुनौती, राकेश टिकैत पर भी हल्ला बोल

अखिलेश यादव को भाजपा विधायक ने दी बड़ी चुनौती, राकेश टिकैत पर भी हल्ला बोल

भाजपा विधायक ने कहा कि अखिलेश यादव और राकेश टिकैत नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष नहीं टिक पाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने संसार को अपना परिवार माना है जबकि अखिलेश यादव के लिए उनका परिवार ही संसार है।

लगातार सुर्खियों में रहने वाले बलिया जिले की बैरिया सीट से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने समाजवादी पार्टी के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बड़ी चुनौती दी है। सुरेंद्र सिंह में अखिलेश यादव को अपने विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की चुनौती दी है। भाजपा किसान मोर्चा द्वारा आयोजित ट्रैक्टर रैली के दौरान सुरेंद्र सिंह ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर जबरदस्त तरीके से निशाना साधा। इतना ही नहीं, विधायक ने दावा किया कि यदि वह पूर्व मुख्यमंत्री को 1 लाख मतों से पराजित नहीं कर पाएंगे तो वह राजनीति से संन्यास ले लेंगे। 

इसे भी पढ़ें: यूपी में भाजपा का पोस्टर वार, एक ओर सीएम योगी का विकास का गन्ना तो दूसरी ओर अखिलेश का जिन्ना कैक्टस

टिकैत पर हमला

किसान आंदोलन में प्रमुखता से उभरे राकेश टिकैत पर भी सुरेंद्र सिंह ने हमला किया। सुरेंद्र सिंह ने राकेश टिकैत को पेशेवर राजनेता करार दिया। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि टिकैत फंडिंग की बदौलत राजनीति कर रहे हैं। वह समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के कहने पर आंदोलन करा रहे हैं। कृषि कानूनों पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता की भावनाओं को समझते हुए इसे वापस ले लिया है तो फिर आंदोलन जारी रखने का क्या औचित्य बनता है। इसके साथ ही भाजपा विधायक ने अखिलेश यादव और राकेश टिकैत पर बेईमान होने का आरोप लगाया। 

इसे भी पढ़ें: आखिर राजा भैया को पहचानने से अखिलेश ने क्यों किया इनकार? जानिए इसके पीछे की सियासी हिस्ट्री

अखिलेश यादव के लिए परिवार ही संसार 

भाजपा विधायक ने कहा कि अखिलेश यादव और राकेश टिकैत नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष नहीं टिक पाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने संसार को अपना परिवार माना है जबकि अखिलेश यादव के लिए उनका परिवार ही संसार है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि परिवार को संसार मानने वाला बेईमान होता है। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। इसके लिए सभी राजनीतिक दल अपनी अपनी तैयारियों में जुट गई है। आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी लगातार जारी है। नेताओं का दौरा भी चल रहा है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...