भाजपा को योजनाओं का नाम बदलने की सोच का परिणाम तो भुगतना ही पड़ेगा: गहलोत

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 21 2019 8:00PM
भाजपा को योजनाओं का नाम बदलने की सोच का परिणाम तो भुगतना ही पड़ेगा: गहलोत
Image Source: Google

विधानसभा के बाहर संवाददाताओं से गहलोत ने कहा कि राजीव गांधी सेवा केंद्रों का नाम बदलकर इन लोगों (गत भाजपा सरकार) ने अटल सेवा केंद्र कर दिया जबकि पूरे देश में, सब राज्यों में इनका नाम राजीव गांधी सेवा केंद्र ही है।

जयपुर। पूर्ववर्ती योजनाओं का नाम बदलने की भाजपा सरकार की नीतियों पर वार करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कहा कि भाजपा को इसका परिणाम भुगतान ही पड़ेगा। भाजपा राजस्थान में इसका परिणाम भी भुगत चुकी है और अब देश की बारी है। इसके साथ ही गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार ने अटल सेवा केंद्रों को उसका मूल वैध नाम राजीव गांधी सेवा केंद्र देने की पहल की है।

इसे भी पढ़ें: किसानों को कृषि अनुदान के लिए 1325 करोड़ रुपए का प्रावधान

विधानसभा के बाहर संवाददाताओं से गहलोत ने कहा कि राजीव गांधी सेवा केंद्रों का नाम बदलकर इन लोगों (गत भाजपा सरकार) ने अटल सेवा केंद्र कर दिया जबकि पूरे देश में, सब राज्यों में इनका नाम राजीव गांधी सेवा केंद्र ही है। नाम बदलने की अपनी सोच के चलते इन्होंने केंद्र और राज्यों में कोई कसर नहीं छोड़ी। हर योजना का नाम बदला गया। अगर आप कोई नयी योजना बनाते और उसका नाम दीनदयाल उपाध्याय या कुछ और रखते तो किसी को ऐतराज नहीं होता। जो योजना चल रही है उसी का नाम बदलकर आप आगे बढना चाहें तो उसमें कटुता पैदा होती है, माहौल खराब होता है। इन्हें इसका अहसास नहीं था अब इन्हें भुगतान ही पड़ेगा। राजस्थान में भुगत लिया अब देश की बारी है।

गहलोत ने कहा कि चूंकि राजीव गांधी एवं अटल बिहारी वाजपेयी दोनों ही भारत रत्न हैं इसलिए हम चाहते थे कि योजना में दोनों का नाम रहे क्योंकि हमारी सोच भाजपा जैसी नहीं है। हम चाहते थे कि इनका नाम राजीव गांधी अटल सेवा केंद्र हो। अटल का मतलब अटल भी होगा। मुख्यमंत्री के अनुसार, ‘लेकिन चूंकि उच्च न्यायालय ने भारत सरकार के कानून के हवाले से कहा है कि योजना में कोई शब्द हटाया या जोड़ा नहीं जा सकता और उस कानून में नाम राजीव गांधी सेवा केंद्र ही है। इसलिए इसका नाम राजीव गांधी सेवा केंद्र ही रखना पड़ेगा। हमने इस बारे में कार्रवाई के लिए मुख्य सचिव को कहा है।’ 

इसे भी पढ़ें: किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे पर विपक्ष के हंगामे से विधानसभा तीन बार स्थगित



इसके साथ ही गहलोत ने पिछली भाजपा सरकार पर शराब व बजरी के क्षेत्र में भारी धांधली करने तथा पूरी प्रणाली को भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि ‘हम गत सरकार के ऐसे कारनामों को ठीक करने में हम लगे हुए हैं।’ उल्लेखनीय है कि इससे पहले सदन में चर्चा के दौरान कांग्रेस के विधायक संयम लोढ़ा ने इस मुद्दे को उठाया। इस दौरान भी हस्तक्षेप करते हुए गहलोत ने कहा कि सरकार इन केंद्रों का नाम फिर राजीव गांधी सेवा केंद्र करने के लिए उचित कार्रवाई करेगी।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video