• चुनाव बाद हुई हिंसा में जख्मी मानस साहा ने तोड़ा दम, भाजपा ने कहा- ममता के हाथ खून से रंगे हैं

भाजपा ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के हाथ भाजपा कार्यकर्ताओं के खून से रंगे हुए हैं। आपको बता दें कि भाजपा कार्यकर्ता मानस साहा की शव यात्रा को लेकर गुरुवार को बवाल मच गया।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हुई हिंसा में दक्षिण 24 परगना जिले के मगराहाट पश्चिम से भाजपा उम्मीदवार मानस साहा जख्मी हो गए थे। जिन्होंने लंबे संघर्ष के बाद बुधवार को दम तोड़ दिया। बंगाल भाजपा ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। बंगाल भाजपा के मुताबिक, विधानसभा चुनाव परिणाम के दिन तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने डायमंड हार्बर पर मानस साहा को बेरहमी से पीटा था। इस हमले में बुरी तरह से जख्मी हो गए और लंबे इलाज के बाद उनकी मौत हो गई। 

इसे भी पढ़ें: ममता बनर्जी ने भाजपा को बताया जुमला पार्टी, बोलीं- हम भारत को बांटने नहीं देंगे 

खून से रंगे हैं 'दीदी' के हाथ

भाजपा ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के हाथ भाजपा कार्यकर्ताओं के खून से रंगे हुए हैं। आपको बता दें कि भाजपा कार्यकर्ता मानस साहा की शव यात्रा को लेकर गुरुवार को बवाल मच गया। दरअसल, प्रदेश इकाई के अध्यक्ष डॉ. सुकांतो मजूमदार, सांसद अर्जुन सिंह, समेत कई विधायक मानस साहा के शव को मुख्यमंत्री बनर्जी के आवास के पास ले जाने की कोशिश कर रहे थे लेकिन पुलिस अधिकारियों ने उन्हें रोक दिया। 

इसे भी पढ़ें: नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष सुकांता मजूमदार बोले- पश्चिम बंगाल में 'तालिबान' के खिलाफ जारी रहेगी लड़ाई 

इसी बीच भाजपा नेताओं और पुलिस के बीच झड़प हो गई। हालांकि बाद में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मानस साहा को अंतिम विदाई दी। भाजपा की बंगाल इकाई ने ट्वीट किया कि जनता एक दिन इस जुल्म का जवाब देगी।