ED की कार्रवाई पर चुप्पी तोड़ते हुए पार्थ चटर्जी ने कहा, मेरे खिलाफ हो रही है साजिश

partha chatterjee
ANI
अंकित सिंह । Jul 29, 2022 4:44PM
दावा किया जा रहा है कि जब यह कथित घोटाला हुआ था तब पार्थ चटर्जी राज्य के शिक्षा मंत्री थे। आज उन्होंने इस मुद्दे पर चुप्पी तोड़ते हुए दावा किया कि उनके विरुद्ध साजिश की जा रही है। उन्होंने खुद को साजिश का शिकार बताया है।

पश्चिम बंगाल सरकार के पूर्व मंत्री और कभी ममता बनर्जी के बेहद करीबी रहे पार्थ चटर्जी की लगातार मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। दरअसल, पार्थ चटर्जी की गरीबी अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों से प्रवर्तन निदेशालय ने अब तक 55 करोड़ से ज्यादा की रकम बरामद किए हैं। इसके अलावा भारी मात्रा में जेवरात भी बरामद किए गए हैं। पार्थ चटर्जी को शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार कर लिया गया था। दावा किया जा रहा है कि जब यह कथित घोटाला हुआ था तब पार्थ चटर्जी राज्य के शिक्षा मंत्री थे। आज उन्होंने इस मुद्दे पर चुप्पी तोड़ते हुए दावा किया कि उनके विरुद्ध साजिश की जा रही है। उन्होंने खुद को साजिश का शिकार बताया है। उन्होंने यह भी कहा कि समय बताएगा कि तृणमूल कांग्रेस ने उनके विरुद्ध जो कार्रवाई की वह उचित थी या नहीं। 

इसे भी पढ़ें: मंत्रिपद के बाद TMC के अहम पदों से हटाए गए पार्थ चटर्जी, अभिषेक बोले- क्या भाजपा ने निर्मला सीतारमण को किया बर्खास्त ?

आपको बता दें कि पार्थ चटर्जी को पिछले हफ्ते ही ईडी ने गिरफ्तार कर लिया था। आज उन्हें चिकित्सीय परीक्षण के लिए एक अस्पताल ले जाया गया था। इसी दौरान संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने यह बातें कहीं हैं। आपको बता दें कि पार्थ चटर्जी के खिलाफ ईडी की हो रही कार्रवाई से पश्चिम बंगाल की ममता सरकार भी बैकफुट पर है। तृणमूल कांग्रेस की ओर से अब तक इस मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार को घेर नहीं जा रहा है। वहीं, ममता बनर्जी ने भी गुरुवार को पार्थ चटर्जी को सभी मंत्रालयों से बर्खास्त कर दिया था। गिरफ्तारी से पहले चटर्जी के पास औद्योगिक और संसदीय मामलों का विभाग था। तृणमूल कांग्रेस ने इस बात को भी साफ कर दिया है कि पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी का पार्टी से कोई संबंध नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों पर ED की कार्रवाई जारी, दूसरे घर में भी मिला कुबेर का खजाना

जांच पूरी होने तक टीएमसी से निलंबित रहेंगे पार्थ चटर्जी: अभिषेक बनर्जी

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के गिरफ्तार नेता पार्थ चटर्जी स्कूल भर्ती घोटाले की जांच पूरी होने तक निलंबित रहेंगे। बनर्जी ने कहा कि चटर्जी को पार्टी के सभी पदों से हटा दिया गया है। बनर्जी ने पार्टी की अनुशासन समिति की बैठक के बाद यह भी कहा कि चटर्जी के निर्दोष साबित होने पर ही टीएमसी के दरवाजे उनके लिए खुलेंगे। चटर्जी लगभग दो दशकों तक टीएमसी के महासचिव रहे और इस साल की शुरुआत में उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया था। बनर्जी ने कहा कि पार्थ चटर्जी को पार्टी के सभी पदों से हटाने का फैसला किया गया है। जब तक जांच चल रही है, वह पार्टी से निलंबित रहेंगे। हम मांग करते हैं कि जांच समय सीमा के भीतर पूरी की जाए।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़