रामपुर में बोले ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर- फौजी हूं, आपके लिए हर मोर्चे पर खड़ा रहूंगा--मुख्यमंत्री ने कहा- मैं और ब्रिगेडियर राज परिवार नहीं, आम परिवार से

रामपुर में बोले ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर- फौजी हूं, आपके लिए हर मोर्चे पर खड़ा रहूंगा--मुख्यमंत्री ने कहा- मैं और ब्रिगेडियर राज परिवार नहीं, आम परिवार से

जयराम ठाकुर ने आगे कहा कि आज की राजनीति में ईमानदार लोगों की जरूरत है। सेना के अधिकारी से ईमानदार कोई नहीं हो सकता। इसीलिए ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को चुना गया है। बकौल जयराम ठाकुर, "कुछ लोग आपके बीच सहानुभूति दिखाएंगे। हम भी उनसे सहानुभूति रखते हैं।

रामपुर।। उपचुनाव को लेकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शनिवार को रामपुर के ननखड़ी में दूसरी चुनावी रैली को संबोधित किया। इस दौरान मंडी संसदीय सीट से बीजेपी प्रत्याशी ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने कहा कि मैं एक फौजी हूं और मंडी संसदीय क्षेत्र के लोगों के लिए हर मोर्च पर खड़ा रहूंगा।

खुशाल ठाकुर ने अपने संबोधन में सबसे पहले मां भीमाकाली को प्रणाम करते हुए जीत का आशीर्वाद मांगा। उन्होंने कहा, "हिमाचल देवभूमि और वीरभूमि के नाम से जानी जाती है। इसलिए देवताओं का आशीर्वाद जरूरी। उन रणबांकुरों को भी मैं नमन करता हूं जिन्होंने देश के लिए बलिदान दिया। 

उन्होंने मंच से मंडी लोकसभा से बीजेपी के पूर्व सांसद स्वर्गीय रामस्वरूप शर्मा और पूर्व सीएम स्वर्गीय वीरभद्र सिंह को भी श्रद्धांजलि अर्पित की। ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने कहा, "2001 में मैं भी रामपुर आया था, यहां आर्मी की भर्ती थी।"  उन्होंने कहा कि मेरी शुरुआत पटवारी के रूप में हुई, 35 साल फौज में रहा, रोहतांग टनल में जनरल एडमिनिस्ट्रेटिव में रहा। जहां-जहां मैं रहा, मैंने ईमानदारी और लगन से काम किया। आप जो भी जिम्मेदारी मुझे देंगे, उसे भी पूरी निष्ठा से निभाऊंगा।"

इसे भी पढ़ें: कथित महलों में रहने वाली प्रतिभा को क्या पता सैनिक की चुनौती , 2019 के चुनाव में हार के भय से छोड़ा था लोकसभा का मैदान: भाजपा

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जनता को संबोधित करते हुए कहा, "आप सब लोगों के सहयोग और देवी-देवताओं के आशीर्वाद से हिमाचल कोरोना से बाहर निकलता दिख रहा है। उन्होंने कहा कि रामपुर के लिए मैंने जो भी पहले घोषणाएं की हैं वो पत्थर की लकीर हैं। एक-एक कार्य को पूरा किया जाएगा। 

जयराम ठाकुर ने कहा कि आज हम ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर के समर्थन में सहयोग मांगने आए हैं। वो साधारण परिवार में जन्मे और पले बढ़े। एक साधारण परिवार से निकले व्यक्ति का पटवारी की नौकरी से शुरू करना और फिर आर्मी में भर्ती होकर ब्रिगेडियर के पद पर पहुंचना बहुत बड़ी बात है।

इसे भी पढ़ें: आनी में गरजे जयराम- हमारी नाटी देखने की आदत डाल ले कांग्रेस, ब्रिगेडियर खुशाल बोले- मैं ग्रामीण पृष्ठभूमि से, देश सेवा में बीता जीवन

मुख्यमत्री ने कारगिल युद्ध का जिक्र करते हुए कहा, "अटल बिहारी वाजपेयी जब सत्ता में थे तो पाकिस्तान ने भारत की सीमा में घुसने की नापाक कोशिश की थी। पाकिस्तान को जिस भाषा में जवाब देने की जरूरत थी उसे उसी भाषा में जवाब दिया गया। उस लड़ाई को लड़ने के लिए सबसे आगे मोर्चे पर यही खुशाल ठाकुर उस दौरान मौजूद थे। ये जानते हुए कि गोली कहीं भी लग सकती है। 

जयराम ठाकुर ने आगे कहा कि आज की राजनीति में ईमानदार लोगों की जरूरत है। सेना के अधिकारी से ईमानदार कोई नहीं हो सकता। इसीलिए ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को चुना गया है। बकौल जयराम ठाकुर, "कुछ लोग आपके बीच सहानुभूति दिखाएंगे। हम भी उनसे सहानुभूति रखते हैं। लेकिन आज देश की आवश्यकता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश को पहले से ज्यादा मजबूत करने की। 

सीएम ने कहा कि केंद्र में मजबूत नेतृत्व के कारण ही कश्मीर से धारा 370 खत्म की गई। इसी वजह से आज कश्मीर में भी तिरंगा झंडा फहराया जा रहा है। उस वक्त कांग्रेस के लोग तो धारा-370 हटाने का भी विरोध कर रहे थे। इसी तरह वर्षों पहले राम जन्म भूमि पर भव्य मंदिर का सपना देखा गया था। इसके लिए कई लोगों ने अपनी जिंदगी कुर्बान कर दी वो सपना आज पूरा हो रहा है। आज राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह ने जारी को हिमाचल भाजपा की स्टार प्रचारकों की सूची

उन्होंने कहा, "हमारे कुछ मित्र आज बेरोजगारी की बात कह रहे हैं। ये बात वो कह रहे हैं जो देश की सत्ता में 70 साल तक रहे।" उन्होंने कांग्रेस से सवाल करते हुए कहा कि क्या पिछले तीन और पांच साल में ही बेरोजगारी आई। क्या कांग्रेस के राज में बेरोजगारी पूरी तरह से खत्म हो गई थी। महंगाई भी कभी कांग्रेस सरकार में खत्म नहीं हुई थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह हमारे बीच मौजूद नहीं हैं। हमें इस बात का बहुत बड़ा दुख है। हम भी उनके बहुत अजीज थे। वे मंच से इस बात को कहा भी करते थे। हमारी पार्टी अलग-अलग थी, लेकिन जब इंसानियत की बात होती थी तो हम अच्छी बातें भी करते थे। आज वो हमारे बीच नहीं हैं हमें इस बात का दुख जरूर है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं इस बात को जरूर कहना चाहूंगा कि हम राजा के परिवार से नहीं हैं। ना मैं और ना ब्रिगेडियर साहब, लेकिन हम आपके परिवार से हैं, प्रजा के परिवार से हैं। हम जैसे लोगों ने गरीब परिवारों में जन्म लिया है। मुझे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश को मजबूत करने के लिए आप लोगों का सहयोग चाहिए। देश तब मजबूत होगा जब आप ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को सांसद बनाकर दिल्ली भेजेंगे।

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस दौरान अपने पिछले दौरे की घोषणाओं का जिक्र करते हुए कहा कि ननखड़ी में पीडब्ल्यूडी का डिवीजन और खोलीघाट में सब-डिवीजन खोलने की जो घोषणा मैं कर चुका हूं, उसे जरूर पूरा किया जाएगा। मैं जीत के बाद आप लोगों के बीच जरूर आउंगा। आप सब लोगों से बात भी करूंगा और नाटी का फेरा भी डालूंगा। कांग्रेस वाले कहते हैं कि ये तो नाटी वाला सीएम है। नाटी हमारी संस्कृति का हिस्सा है। इसे खत्म नहीं किया जा सकता।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।