जम्मू-कश्मीर के नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए केंद्र कदम उठाए: चन्नी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 8, 2021   15:55
जम्मू-कश्मीर के नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए केंद्र कदम उठाए: चन्नी

चन्नी ने प्रधानाचार्य और शिक्षक की हत्या पर गहरा शोक व्यक्त किया। यहां जारी बयान के मुताबिक, उन्होंने केंद्र से वहां (जम्मू-कश्मीर में) आम लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने का आग्रह किया, जो विभिन्न आतंकवादियों की धमकी की वजह से अनिश्चितता के माहौल में रह रहे हैं।

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने जम्मू कश्मीर में हाल में आतंकवादियों द्वारा आम नागरिकों की हत्या किए जाने की शुक्रवार को कड़ी निंदा की और केंद्र शासित प्रदेश के निवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए केंद्र सरकार से तत्काल कदम उठाने का आग्रह किया। उल्लेखनीय है कि गत कुछ दिनों में जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा कई नागरिकों की हत्या की गई है जिनमें नवीनतम घटना बृहस्पतिवार को श्रीनगर के सरकारी स्कूल में प्रधानाचार्य सुपिंदर कौर और शिक्षक दीपक चंद की हत्या की है।

इसे भी पढ़ें: लखीमपुर मामले में अजय मिश्रा नहीं पहुंचे पुलिस कार्यालय, एक दिन का समय और दिया गया

इसी प्रकार मंगलवार को एक प्रमुख कश्मीरी पंडित माखन लाल बिंद्रू,बिहार निवासी एक विक्रेता वीरेंद्र पासवान की श्रीनगर में और आम नागरिक मोहम्मद शफी लोन की बांदीपोरा में आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी। चन्नी ने प्रधानाचार्य और शिक्षक की हत्या पर गहरा शोक व्यक्त किया। यहां जारी बयान के मुताबिक, उन्होंने केंद्र से वहां (जम्मू-कश्मीर में) आम लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने का आग्रह किया, जो विभिन्न आतंकवादियों की धमकी की वजह से अनिश्चितता के माहौल में रह रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: टोंक में सड़क दुर्घटना में एक व्यक्ति और उसके पांच साल के बच्चे की मौत

मुख्यमंत्री ने कहा कि तत्काल जम्मू्-कश्मीर के अल्पसंख्यकों के बीच सुरक्षा का भाव उत्पन्न करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मानवता के खिलाफ इन जघन्य अपराधों के दोषियों और शांति, सद्भावना और भाईचारे को नष्ट करने वालों को कानून के मुताबिक सख्त सजा दी जानी चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...