शारदा घोटाला: तृणमूल कांग्रेस नेता कुणाल घोष, पत्रकार सुमन चट्टोपाध्याय के खिलाफ आरोपपत्र दायर

Kunal Ghosh
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने करोड़ों रुपये के शारदा पॉन्जी घोटाला मामले में अपनी जांच के तहत शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के प्रवक्ता कुणाल घोष और वरिष्ठ पत्रकार सुमन चट्टोपाध्याय के खिलाफ पूरक आरोपपत्र दायर किया। एजेंसी के सूत्रों ने यह जानकारी दी।

कोलकाता। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने करोड़ों रुपये के शारदा पॉन्जी घोटाला मामले में अपनी जांच के तहत शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के प्रवक्ता कुणाल घोष और वरिष्ठ पत्रकार सुमन चट्टोपाध्याय के खिलाफ पूरक आरोपपत्र दायर किया। एजेंसी के सूत्रों ने यह जानकारी दी। निदेशालय में सूत्रों ने कहा कि धनशोधन निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) अदालत ने आरोपों पर संज्ञान लिया है।

इसे भी पढ़ें: तालिबान ने 140 अफगान सिख और हिंदू तीर्थयात्रियों को भारत आने से रोका, गुरु तेग बहादुर की 400वीं जयंती में होना था शामिल

एक सूत्र ने कहा, “ईडी ने कुणाल घोष, उनकी कंपनी स्ट्रेटजी मीडिया प्लस कम्युनिकेशंस, और सुमन चट्टोपाध्याय और उनकी सहयोगी कंपनियों दिशा प्रोडक्शन एंड मीडिया तथा एकदिन मीडिया के खिलाफ विशेष न्यायाधीश (पीएमएलए), कोलकाता के समक्ष पूरक आरोपपत्र दायर किया है और अनुरोध किया कि आरोपियों को धनशोधन के तहत किये गए अपराधों और 96.55 करोड़ रुपये मूल्य की जब्त संपत्तियों के मामले में दंड देने का अनुरोध किया। इनमें से 2.67 करोड़ की संपत्ति घोष की है जबकि 1.72 करोड़ रुपये की संपत्ति का स्वामी चट्टोपाध्याय है।”

इसे भी पढ़ें: DU एकेडमिक काउंसिल की बैठक में बड़ा फैसला, सावरकर के नाम पर बनेगा कॉलेज, वाजपेयी, जेटली के नाम पर होंगे सेंटर्स

चट्टोपाध्याय आईकोर चिटफंड घोटाले में भी आरोपी है। घोष और चट्टोपाध्याय को पूर्व में गिरफ्तार किया गया था और अभी वे जमानत पर हैं। अब भंग हो चुके शारदा समूह के मालिक सुदीप्तो सेन अपने सहयोगी देबजानी मुखर्जी के साथ जेल की सजा भुगत रहे हैं। सूत्र के मुताबिक शारदा मीडिया ग्रुप में मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) घोष ने कथित तौर पर सेन को 2500 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम के शोधन में मदद की। चट्टोपाध्याय ने कथित तौर पर अपनी दो कंपनियों के माध्यम से फर्जी लेनदेन कर धनशोधन किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़