मध्य प्रदेश के सागर जिले में कांग्रेस, भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, कई घायल

Congress
जिले में बृहस्पतिवार को कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में पुलिसकर्मियों सहित करीब 30 लोग घायल हो गए। एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस को स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा।

सागर (मध्य प्रदेश)। जिले में बृहस्पतिवार को कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में पुलिसकर्मियों सहित करीब 30 लोग घायल हो गए। एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस को स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। स्थानीय कांग्रेस नेता स्वदेश जैन ने बताया कि 17 जनवरी को कुरई में एकसेल्फी प्वाइंट को कथित तौर पर नुकसान पहुंचाने के आरोप में कांग्रेस के छह कार्यकर्ताओं के खिलाफ दायर एक झूठे मामले के खिलाफ विरोध करने और अधिकारियों को ज्ञापन देने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं ने अनुमति मांगी थी।

इसे भी पढ़ें: भारत को एस-400 बेचना अस्थिरता पैदा करने में रूस की भूमिका को दर्शाता है: अमेरिका

उन्होंने दावा किया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने उन पर पथराव किया और जिसमें एक दर्जन से अधिक कांग्रेस कार्यकर्ता घायल हो गए। लेकिन प्रदेश के शहरी विकास मंत्री और भाजपा नेता भूपेंद्र सिंह ने आरोपलगाया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सदस्यों पर पथराव किया। भाजपाकार्यकर्ता यहां से 60 किलोमीटर दूर सेल्फी प्वाइंट में तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर पुलिस को ज्ञापन सौंपने जा रहे थे। यह क्षेत्र मंत्री के निर्वाचन क्षेत्र में आता है।

इसे भी पढ़ें: उप्र में भाजपा के चुनावी कार्यक्रम में कुछ देर के लिए बिजली गुल हो गई

सिंह ने दावा किया कि 150 से अधिक भाजपा कार्यकर्ता घायल हो गए। कुरई अनुमंडल पुलिस अधिकारी सुमित केरकेट्टा ने बताया कि दोनों पक्षों ने ज्ञापन सौंपने की अनुमति नहीं मांगी थी। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों के 15 से अधिक प्रदर्शनकारी और इतने ही पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़