मुख्यमंत्री चन्नी, प्रकाश सिंह बादल, अमरिंदर सिंह समेत इन दिग्गज नेताओं ने भरा पर्चा, दिलचस्प मुकाबले की संभावना

Charanjit Singh Channi
प्रतिरूप फोटो
मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सोमवार को बरनाला के भदौड़ से अपना पर्चा दाखिल किया। दरअसल, कांग्रेस ने मुख्यमंत्री चन्नी को दो सीटों भदौड़ (आरक्षित) और चमकौर साहिब से चुनावी मैदान में उतारा है। बीते दिनों कांग्रेस ने 8 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया। जिसमें मुख्यमंत्री चन्नी का नाम भी शामिल था।

जालंधर। पंजाब में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है। इसी बीच सोमवार को कई हाई प्रोफाइल वाले नेताओं ने अपना-अपना नामांकन दाखिल किया। पूर्व मुख्यमंत्री और शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के संरक्षक प्रकाश सिंह बादल ने लांबी सीट से नामांकन दाखिल किया। जबकि पंजाब लोक कांग्रेस प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पटियाला से अपना पर्चा भरा। इस दौरान अमरिंदर सिंह के साथ पंजाब भाजपा प्रभारी गजेंद्र सिंह शेखावत भी मौजूद रहे। 

इसे भी पढ़ें: सिद्धू ने मजीठिया को बताया परचा माफिया, बोले- अगर वादे पूरे नहीं किए तो छोड़ दूंगा राजनीति 

बरनाला से चन्नी ने भरा पर्चा

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सोमवार को बरनाला के भदौड़ से अपना पर्चा दाखिल किया। दरअसल, कांग्रेस ने मुख्यमंत्री चन्नी को दो सीटों भदौड़ (आरक्षित) और चमकौर साहिब से चुनावी मैदान में उतारा है। बीते दिनों कांग्रेस ने 8 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया। जिसमें मुख्यमंत्री चन्नी का नाम भी शामिल था। भदौड़ से अपना पर्चा दाखिल करने के बाद मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि ये क्षेत्र बहुत बड़ा है और यहां के कई ज़िले विकास में पिछड़े हुए हैं। यहां कैप्टन और बादल साहब भी रहे लेकिन विकास नहीं हुआ। मुझे इस पूरे क्षेत्र का विकास करना है।

इसे भी पढ़ें: Punjab Election 2022 | अमरिंदर के उम्मीदवार मांग रहे कमल का निशान, 4 को मिला तो एक से छिनी उम्मीदवारी

शिअद प्रमुख ने नामांकन किया दाखिल

शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने जलालाबाद सीट से अपना नामांकन दाखिल किया। इस अवसर पर उनके साथ उनकी सांसद पत्नी हरसिमरत कौर बादल भी मौजूद रहीं। इसके बाद हरसिमरत कौर ने आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि लोगों ने पंजाब में एक नई सरकार बनाने का मन बना लिया है। लोग दिल्ली से आकर पंजाब के ऊपर राज करना चाह रहे हैं और पंजाब के हित को पीछे व अपने हित को आगे रखना चाह रहे हैं। आज पंजाब को एक ऐसी सरकार की जरूरत है जिनका इतिहास और काम लोगों ने देखा है।

इस दिन होगा मतदान

आपको बता दें कि 117 विधानसभा सीटों वाले प्रदेश में 20 फरवरी को मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। जबकि 10 मार्च को परिणाम सामने आएंगे। जिसमें स्पष्ट हो पाएगा कि प्रदेश में आखिर किसकी सरकार बनने वाली है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़