पद एक और उम्मीदवार दो, सिद्धू-चन्नी ने ठोकी दावेदारी तो पंजाब में CM चेहरे को लेकर राहुल गांधी ने कही ये बड़ी बात

rahul
अभिनय आकाश । Jan 28, 2022 2:26PM
राहुल ने कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी चाहती है, अगर कार्यकर्ता चाहते हैं और अगर पंजाब चाहता है तो फिर हम मुख्यमंत्री का निर्णय आपके लिए ले लेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘हम अपने कार्यकर्ताओं से सलाह मशविरा करने के बाद यह फैसला करेंगे। बाकी (नेता) एक टीम के तौर पर काम करेंगे।’ जो सही व्यक्ति होगा वो पंजाब को आगे ले जाएगा।

पंजाब में कांग्रेस सीएम चेहरे का ऐलान करेगी लेकिन खुशी से नहीं बल्कि मजबूरी में वो भी इसलिए क्योंकि राहुल गांधी के सामने ही सिद्ध और चन्नी ने अपनी-अपनी दावेदारी ठोक दी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बृहस्पतिवार को यहां कहा कि उनकी पार्टी पंजाब विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद के चेहरे के साथ उतरेगी और पार्टी कार्यकर्ताओं से परामर्श करने के बाद जल्द ही इस बारे में फैसला किया जाएगा। 

पंजाब शब्द के अंदर हमारा चिन्ह पंजा भी

 राहुल गांधी ने कहा कि ये सिर्फ एक राजनीतिक पार्टी नहीं है। ये एक विचारधारा है। ये वो विचारधारा है जिसने अंग्रेजों को हराकर इस देश को बनाया है। इस विचारधारा में हम सब एक हैं। जैसे कि कहा जाता है कि पंजाब पांच नदियों का राज्य है। मगर अगर आप उसे गहराई से देखें तो पांच नदियां एक नदी से आती है। फिर वो पांच नदियां समुद्र में मिल जाती है। आज मैं सोच रहा था और फिर नोटिस किया कि पंजाब शब्द के अंदर हमारा चिन्ह 'पंजा' वो भी है। 

इसे भी पढ़ें: लांबी सीट से छठी बार चुनाव लड़ेंगे 94 साल के प्रकाश सिंह बादल, सबसे कम उम्र और सबसे उम्रदराज मुख्यमंत्री रह चुके हैं

सीएम  चेहरे को लेकर ये कहा

राहुल ने कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी चाहती है, अगर कार्यकर्ता चाहते हैं और अगर पंजाब चाहता है तो फिर हम मुख्यमंत्री का निर्णय आपके लिए ले लेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘हम अपने कार्यकर्ताओं से सलाह मशविरा करने के बाद यह फैसला करेंगे। बाकी (नेता) एक टीम के तौर पर काम करेंगे।’ जो सही व्यक्ति होगा वो पंजाब को आगे ले जाएगा। दूसरा व्यक्ति और सब लोग मिलकर एक टीम जैसे लड़ाई लड़ेंगे। 

पद एक और उम्मीदवार दो

पिछले कुछ हफ्तों में, चन्नी और सिद्धू दोनों ने पार्टी से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किये जाने की इच्छा का प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से संकेत दिया है। अपने भाषण में सिद्धू ने कहा कि लोग स्पष्टता चाहते हैं कि एजेंडा और रोडमैप को कौन लागू करेगा, जिस पर चन्नी ने बाद में कहा कि वह कभी किसी पद के पीछे नहीं भागे हैं और जिनके नाम की घोषणा की जाएगी, वह पूरे दिल से फैसले का समर्थन करेंगे। राज्य के कर्ज का जिक्र करते हुए सिद्धू ने कहा कि लोग जानना चाहते हैं कौन उन्हें इससे बाहर निकालेगा, इसे कैसे किया जाएगा और यहां क्या एजेडा तथा रोडमैप है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि वह ‘दर्शनी घोड़ा’ (शोपीस) नहीं बनना चाहते हैं। बाद में चन्नी ने कहा, ‘‘मैं हाथ जोड़ कर कहता हूं कि हम पंजाबी हैं, हम राज्य का कल्याण चाहते हैं।  

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़