गुजरात चुनाव के लिए घोषणा पत्र लाने में कांग्रेस को लग सकते हैं 15 दिन

Congress can take 15 days bring declaration for Gujarat elections
गुजरात विधानसभा के नौ एवं 14 दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए कांग्रेस व्यापारियों विशेषकर छोटे उद्यमियों, महिलाओं, युवाओं और किसानों से बात कर अपना घोषणापत्र लायेगी और इसे आने में करीब एक पखवाड़े का समय लग सकता है।

नयी दिल्ली। गुजरात विधानसभा के नौ एवं 14 दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए कांग्रेस व्यापारियों विशेषकर छोटे उद्यमियों, महिलाओं, युवाओं और किसानों से बात कर अपना घोषणापत्र लायेगी और इसे आने में करीब एक पखवाड़े का समय लग सकता है। पार्टी के वरिष्ठ सूत्रों ने यह जानकारी दी। पार्टी सूत्रों ने बताया कि इस बार चुनाव में कांग्रेस उद्योग एवं व्यापार विशेषकर छोटे उद्यमियों, किसानों और युवाओं के मुद्दों को विशेषतौर पर उठा रही है।

उन्होंने कहा कि पहले नोटबंदी और फिर जीएसटी लागू करने के कारण राज्य का उद्योग एवं व्यापार समुदाय बहुत मुश्किलों का सामना कर रहा है।इस बारे में पूछे जाने पर एआईसीसी में गुजरात मामलों के प्रभारी महासचिव अशोक गहलोत ने  बताया, ‘‘पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस बात पर विशेष बल देकर कहा है कि गुजरात चुनाव के लिए घोषणा पत्र स्थानीय लोगों से बातचीत करने के बाद ही बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पार्टी विभिन्न वर्ग के लोगों से बातचीत कर उनके मुद्दों को सुनेगी और उसके आधार पर अपना घोषणापत्र बनायेगी।’’

सूत्रों के अनुसार अगले कुछ दिनों में पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम, पार्टी के केन्द्रीय चुनाव प्राधिकरण के सदस्य एवं सांसद मधुसूदन मिस्त्री, पार्टी के एक अन्य नेता एवं प्रौद्योगिकीविद् सैम पित्रोदा आदि गुजरात जायेंगे। वे विभिन्न क्षेत्रों के लोगों से बातचीत करेंगे।उन्होंने कहा कि गुजरात चुनाव के लिए पार्टी का घोषणपत्र इन नेताओं की बातचीत के आधार पर ही तैयार होगा। इस काम में करीब एक पखवाड़ा लग सकता है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़