CWC की बैठक: कांग्रेस अध्यक्ष समेत संगठन का चुनाव मई में कराने की संभावना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   14:22
  • Like
CWC की बैठक: कांग्रेस अध्यक्ष समेत संगठन का चुनाव मई में कराने की संभावना

कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडल्यूसी) की शुक्रवार को बैठक शुरू हुई। इसमें संगठन के चुनाव, किसान आंदोलन और कुछ अन्य मुद्दों पर चर्चा की जा रही है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडल्यूसी) की शुक्रवार को बैठक शुरू हुई। इसमें संगठन के चुनाव, किसान आंदोलन और कुछ अन्य मुद्दों पर चर्चा की जा रही है। सूत्रों का कहना है कि वरिष्ठ नेता मधुसूधन मिस्त्री की अध्यक्षता वाले केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण ने कांग्रेस अध्यक्ष समेत संगठन का चुनाव तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल, असम और पुडुचेरी के विधानसभा चुनाव के बाद मई में कराने का प्रस्ताव रखा है।

इसे भी पढ़ें: सोनिया गांधी ने अर्नब गोस्वामी मामले पर कहा- राष्ट्रवाद का प्रमाण पत्र बांटने वाले पूरी तरह बेनकाब हो गए

सूत्रों का कहना है कि चुनाव प्राधिकरण ने 29 मई को अधिवेशन कराए जाने की भी पेशकश की है। सीडब्ल्यूसी चुनाव प्राधिकरण के प्रस्ताव पर चर्चा कर रही है और आज इस पर कोई अंतिम निर्णय होगा। गौरतलब है कि पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस कार्य समिति की बैठक आरंभ, नए अध्यक्ष को लेकर स्थिति स्पष्ट होने की संभावना

बिहार विधानसभा चुनाव और कुछ राज्यों के उप चुनावों में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल जैसे कुछ वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी के सक्रिय अध्यक्ष की नियुक्ति की मांग फिर उठाई। वैसे, कांग्रेस नेताओं का एक बड़ा धड़ा लंबे समय से इस बात की पैरवी कर रहा है कि राहुल गांधी को फिर से कांग्रेस की कमान संभालनी चाहिए। कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने हाल ही में कहा था कि कांग्रेस के 99.99 प्रतिशत लोग चाहते हैं कि राहुल गांधी फिर से उनका नेतृत्व करें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


चुनावों में तैनात हर कर्मी को कोविड-19 का टीका लगाना होगा: निर्वाचन आयोग

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   20:59
  • Like
चुनावों में तैनात हर कर्मी को कोविड-19 का टीका लगाना होगा: निर्वाचन आयोग

मतों की गिनती दो मई को होगी। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि चार राज्यों व केंद्र शासित पुडुचेरी को मिलाकर कुल 824 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होगा और इस दौरान कुल 18.68 करोड़ मतदाता 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर मतदान करने के पात्र होंगे।

नयी दिल्ली। निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में तैनात हर कर्मी का कोविड-19 का टीकाकरण किया जाएगा। निर्वाचन आयोग ने आज पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया। इन चार राज्यों व केंद्र शासित पुडुचेरी में 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच अलग-अलग चरणों में मतदान संपन्न होगा। मतों की गिनती दो मई को होगी। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि चार राज्यों व केंद्र शासित पुडुचेरी को मिलाकर कुल 824 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होगा और इस दौरान कुल 18.68 करोड़ मतदाता 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर मतदान करने के पात्र होंगे।

पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच आठ चरणों में जबकि असम में 27 मार्च से छह अप्रैल के बीच तीन चरणों में मतदान संपन्न होगा। तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में एक चरण में छह अप्रैल को मतदान होगा। उन्होंने बताया कि पांचों विधानसभा चुनावों में ऑनलाइन नामांकन की सुविधा प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए मतदान के लिए एक घंटे का अतिरिक्त समय दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि संवेदनशील इलाकों में स्थित मतदान केंद्रों में वेबकास्टिंग की व्यवस्था रहेगी और उपुयक्त संख्या में केंद्रीय बलों की तैनाती की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी संवदेनशील क्षेत्रों की पहचान कर ली गई है और वहां केंद्रीय दलों की तैनाती कर दी गई है। 

इसे भी पढ़ें: ममता का सवाल, क्या चुनाव तिथियां मोदी और शाह के सुझावों के अनुसार घोषित की गईं?

अरोड़ा ने कहा कि घर-घर अभियान में उम्मीदवार सहित पांच से अधिक व्यक्ति नहीं होंगे जबकि रोड शो में पांच से अधिक गाड़ियों की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान से चुनाव संपन्न कराने की स्थितियां अनुकूल हुई हैं और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने चुनावी ड्यूटी पर तैनात हर कर्मी को टीकाकरण के मकसद से अग्रिम मोर्चा का कार्यकर्ता घोषित किया है। उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले चुनावी ड्यूटी पर तैनात सभी चुनाव अधिकारियों का टीकाकरण होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


केरल लौटने वाले प्रवासियों की मुफ्त आरटी-पीसीआर जांच होगी, 3671 नये मामले

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   20:55
  • Like
केरल लौटने वाले प्रवासियों की मुफ्त आरटी-पीसीआर जांच होगी, 3671 नये मामले

राज्य में और 3,671 और लोगों के संक्रमित पाये जाने के बाद इस महामारी के कुल मामले 10.52 लाख हो गये हैं। कोविड-19 के 14 और मरीजों की मौत होने के साथ ही राज्य में अब तक4,164 लोग इस संक्रमण से अपनी जान गंवा चुके हैं। जो नये मामले सामने आये हैं उनमें तीन ब्रिटेन से लौटे लोग हैं।

तिरुवनंतपुरम। केरल सरकार ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में कोविड-19 के नये मामलों में तीव्र वृद्धि के मद्देनजर वह लौटने वाले सभी प्रवासियों की मुफ्त आरटी-पीसीआर जांच करेगी। राज्य में और 3,671 और लोगों के संक्रमित पाये जाने के बाद इस महामारी के कुल मामले 10.52 लाख हो गये हैं। कोविड-19 के 14 और मरीजों की मौत होने के साथ ही राज्य में अब तक4,164 लोग इस संक्रमण से अपनी जान गंवा चुके हैं। जो नये मामले सामने आये हैं उनमें तीन ब्रिटेन से लौटे लोग हैं। फिलहाल राज्य में 51000 से अधिक मरीज उपचाररत हैं। स्वास्थ्य मंत्री के सैलजा ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण का पता लगाने के लिए सबसे उपयुक्त समझा जाने वाला आरटी-पीसीआर परीक्षण कराने का निर्णय केंद्र के निर्देश के बाद लिया गया है, क्योंकि पिछले एक सप्ताह में कोविड-19 के मामले तीस फीसद से अधिक बढ़ गये हैं। 

इसे भी पढ़ें: MP सरकार ने कोरोना काल में किसानों, गरीब जनता की आर्थिक मदद की है: शिवराज

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि केंद्र ने राज्य को हवाई अड्डों पर जांच तेज करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘ राज्य सरकार राज्य में पहुंचने वाले प्रवासियों की मुफ्त आरटी-पीसीआर जांच करेगी और परिणाम उन्हें बताया जाएगा।’’ मंत्री ने कहा, ‘‘ केंद्र सरकार ने हमें यह भी सूचित किया है कि देश में 16 राज्यों में कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर आने की आशंका है।’’ शुक्रवार को जारी की गयी विज्ञप्ति में सैलजा ने बताया कि 3671 नये मामले आने से राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 10,52,706 हो गयी। ब्रिटेन से लौटे और संक्रमित पाये गये लोगों की संख्या 94 हो गयी है जिनमें से , शुरुआत में 11 व्यक्तियों में कोरोना वायरस का नया प्रकार पाया गया है। राज्य में सक्रमण दर 5.41 फीसद है। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना के 256 नए मामले, फरवरी मे सर्वाधिक नये मामले

अबतक 1,13,39,805 नमूनों की कोविड-19 जांच करायी जा चुकी है। मंत्री ने कहा, ‘‘ जो लोग आज संक्रमित पाये गये, उनमें से 91 बाहर से राज्य में पहुंचे हैं तथा 3317 संक्रमितों के संपर्क में आकर संक्रमित हुए। 250 लोगों के बारे में यह पता नहीं चल पाया कि वे कैसे संक्रमित हुए। संक्रमितों में 13 स्वास्थ्यकर्मी हैं। ’’ इस बीच 4,142 मरीजों के ठीक हो जाने के साथ ही अबतक9,96,514 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके है। फिलहाल 51,390 मरीजों का उपचार चल रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


दिल्ली में कोरोना के 256 नए मामले, फरवरी मे सर्वाधिक नये मामले

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2021   20:50
  • Like
दिल्ली में कोरोना के 256 नए मामले, फरवरी मे सर्वाधिक नये मामले

राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 220 तथा बुधवार को 200 नए मामले आए थे। उससे पहले एक से लेकर 23 फरवरी तक रोजाना मामले 200 के नीचे रहे।

नयी दिल्ली। दिल्ली में शुक्रवार को कोविड-19 के 256 नए मामले सामने आए, जो फरवरी में एक दिन में आए सबसे अधिक मामले हैं। साथ ही, यहां इस दौरान एक मरीज की मौत भी हुई। अधिकारियों द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार यह जानकारी सामने आई है। यह लगातार तीसरा दिन है जब कोरोना वायरस के रोजाना मामले 200 या उसके पार चले गये हैं। राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को कोविड-19 के 220 तथा बुधवार को 200 नए मामले आए थे। उससे पहले एक से लेकर 23 फरवरी तक रोजाना मामले 200 के नीचे रहे। 

इसे भी पढ़ें: MP सरकार ने कोरोना काल में किसानों, गरीब जनता की आर्थिक मदद की है: शिवराज

दिल्ली में 28 जनवरी को कोविड-19 के 199 नए मामले सामने आए थे। सरकार द्वारा जारी किए गए नवीनतम स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, महानगर में शुक्रवार को 256 नये मामले सामने आने से संक्रमण का आंकड़ा बढ़कर 6,38,849 हो गया है। यहां फिलहाल संक्रमण दर 0.41 फीसद है। स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार, पिछले दिन 62,768 जांच की गईं, जिसके बाद ये नए मामले सामने आए। दिल्ली में 16 फरवरी को कोविड-19 के 94 नए मामले आए थे, जो नौ महीनों में सबसे कम है। नवीनतम बुलेटिन के अनुसार, दिल्ली में शुक्रवार को 1231 मरीज उपचाराधीन थे जबकि उसके पिछले दिन ऐसे मरीज 1169 थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept