क्या कांग्रेस से खफा हैं प्रशांत किशोर ? लखीमपुर खीरी मामले को लेकर कसा तंज, बोले- GOP की जड़ों में हैं खामियां

क्या कांग्रेस से खफा हैं प्रशांत किशोर ? लखीमपुर खीरी मामले को लेकर कसा तंज, बोले- GOP की जड़ों में हैं खामियां

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ट्वीट किया कि दुर्भाग्य से जीओपी की जड़ों और उनकी संगठनात्मक संरचना में बड़ी खामियां हैं। फिलहाल इस समस्या का कोई त्वरित समाधान नहीं है।

नयी दिल्ली। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी मामले को लेकर सियासत गर्मायी हुई है। इसी बीच चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस का नाम लिए बिना ही निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जो लोग यह सोच रहे हैं कि ग्रैंड ओल्ड पार्टी (जीओपी) के सहारे विपक्ष की तुरंत वापसी होगी वे गलतफहमी में हैं। 

इसे भी पढ़ें: लखीमपुर हिंसा मामला : गृह राज्य मंत्री के पुत्र आशीष पूछताछ के लिये नहीं पहुंचे 

उन्होंने आगे लिखा कि दुर्भाग्य से जीओपी की जड़ों और उनकी संगठनात्मक संरचना में बड़ी खामियां हैं। फिलहाल इस समस्या का कोई त्वरित समाधान नहीं है।  

क्या कांग्रेस से नाराज हैं पीके ?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद से चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थी और पार्टी में भी उनके शामिल होने की लगभग प्रक्रिया पूरी हो चुकी थी लेकिन उनकी इस टिप्पणी के बाद अटकलों पर विराम लगता हुआ दिखाई दे रहा है।  

इसे भी पढ़ें: लखीमपुर हिंसाः केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा की बढ़ी मुश्किलें, घर पर लगा नोटिस, बेटे आशीष को क्राइम ब्रांच ने किया तलब 

माना जा रहा था कि कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी की मुहर लगना ही बस बाकी थी और जैसे ही सोनिया गांधी मुहर लगाती एक बड़े से कार्यक्रम के माध्यम से प्रशांत किशोर को पार्टी में शामिल करा लिया जाता। सूत्रों से जानकारी भी मिली थी कि वो कांग्रेस में कई तरह के बदलाव की योजना भी बना चुके थे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।