कोरोना के खतरे से निपटने के लिए दिल्ली सरकार खरीदेगी दवाईयां, अस्पतालों को 104 करोड़ रुपये किए गए आवंटित

corona preperation
ANI Image
किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने सोमवार को अस्पतालों को सामान्य दवाएं खरीदने के लिए 104 करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी दी। दिल्ली के अस्पतालों को पहले से तैयारी करने और सतर्क रहने को कहा गया है। केंद्र के निर्णय के मद्देनजर मंगलवार को अस्पतालों में ‘मॉक ड्रिल’ आयोजित किया जाएगा।

नयी दिल्ली। कुछ देशों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में वृद्धि के बीच उपजी आशंकाओं के मद्देनजर किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने सोमवार को अस्पतालों को सामान्य दवाएं खरीदने के लिए 104 करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी दी। समीक्षा बैठक में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सरकारी अस्पतालों के प्रमुखों को शाम तक बिस्तर, वेंटिलेटर, आईसीयू, मानव संसाधन, ऑक्सीजन संयंत्र और चिकित्सा उपकरणों का विवरण स्वास्थ्य विभाग के साथ साझा करने का निर्देश दिया।

सिसोदिया के हवाले से एक बयान में कहा गया कि वैश्विक स्तर पर कोविड मामलों में वृद्धि सभी के लिए चिंता का विषय है। दिल्ली के अस्पतालों को पहले से तैयारी करने और सतर्क रहने को कहा गया है।’’ इसमें कहा गया, ‘‘सरकारी अस्पतालों में किसी भी दवा की कमी न हो और वे किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें, इसके लिए 104 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गई है। उन्होंने कहा कि केंद्र के निर्णय के मद्देनजर मंगलवार को अस्पतालों में ‘मॉक ड्रिल’ आयोजित किया जाएगा ताकि कोविड-19 से जुड़ी किसी भी घटना से निपटने के लिए उनकी तैयारी सुनिश्चित की जा सके।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा किसी भी कमी को तुरंत दूर किया जाएगा। अधिकारियों ने कहा कि दिल्ली सरकार के पोर्टल पर मंगलवार से जनता के लिए बिस्तर, ऑक्सीजन सिलेंडर और वेंटिलेटर की उपलब्धता संबंधी जानकारी उपलब्ध रहेगी। उन्होंने कहा कि कोविड जांच में भी वृद्धि की जा सकती है। फिलहाल, शहर में रोजाना 2,500 से 3,000 नमूनों की जांच की जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़