VHP ने की कांग्रेस की निंदा, कहा- J&K में अनुच्छेद 370 की पूर्व स्थिति बहाल करने की मांग जनभावना के विरूद्ध

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 25, 2020   15:48
VHP ने की कांग्रेस की निंदा, कहा- J&K में अनुच्छेद 370 की पूर्व स्थिति बहाल करने की मांग जनभावना के विरूद्ध

विश्व हिंदू परिषद के केन्द्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के कुछ नेताओं ने छह राजनीतिक दलों के इस संयुक्त घोषणा पत्र पर अपनी सहमति व्यक्त करके अपना चरित्र एक बार फिर सार्वजनिक कर दिया है।

नयी दिल्ली। विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के विरुद्ध कुछ राजनीतिक दलों द्वारा संयुक्त घोषणा पत्र जारी करने को देश की जनभावना के विरूद्ध कार्य करार दिया। इसके साथ ही विहिप ने मंगलवार को कहा कि ये दल अपने ऐसे ही कार्यों के कारण देश में पहले ही अप्रासंगिक हो चुके हैं और जनता इन्हें समुचित जवाब देगी। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के केन्द्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने एक बयान में कहा कि इन राजनीतिक दलों द्वारा जम्मू कश्मीर में संविधान के अनुच्छेद 370 की पूर्व स्थिति बहाल करने की मांग ‘‘न सिर्फ देश की जनभावनाओं के विरुद्ध है बल्कि भारत के संविधान, न्याय व्यवस्था तथा संसद की अवमानना के साथ-साथ देश विरोध की भी पराकाष्ठा है।’’ 

इसे भी पढ़ें: गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, J&K से सुरक्षाबलों के 10,000 जवानों की होगी तत्काल वापसी 

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस के कुछ नेताओं ने छह राजनीतिक दलों के इस संयुक्त घोषणा पत्र पर अपनी सहमति व्यक्त करके अपना चरित्र एक बार फिर सार्वजनिक कर दिया है। जम्मू कश्मीर सहित सम्पूर्ण भारत की जनता ऐसे लोगों को कभी क्षमा नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है तथा उसके विषय में हर प्रकार का निर्णय लेने में संसद स्वतंत्र है। अनुच्छेद 370 हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में स्थितियां सामान्य हो रही हैं, आम जन-जीवन पटरी पर आ रहा है और क्षेत्र का विकास गति पकड़ने लगा है लेकिन यह स्थिति कुछ लोगों को रास नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे दल अपने ऐसी ही कार्यों के कारण देश में पहले से ही अप्रासंगिक हो चुके हैं और इन्हें देश की राष्ट्रभक्त जनता समय पर समुचित जबाव भी देगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।