उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सात कालिदास मार्ग पर अपने कैंप कार्यालय में किया वृक्षारोपण

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 1, 2021   22:01
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सात कालिदास मार्ग पर अपने कैंप कार्यालय में किया वृक्षारोपण

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज वन महोत्सव सप्ताह के शुभारंभ के अवसर पर अपने कैंप कार्यालय सात कालिदास मार्ग पर वृक्षारोपण किया।उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने वन महोत्सव सप्ताह (01 से 07 जुलाई) की समस्त प्रदेशवासियों को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं।

मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट अभियान के साथ-साथ आशिंक कोरोना कफ्र्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना का संक्रमण नियंत्रित करने में सफलता मिली हैं। प्रदेश में कोविड-19 का संक्रमण अन्य प्रदेशों एवं देशों के अपेक्षा कम। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके इलाज किया जा सके। 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 03 लाख 10 हजार से घटकर आज 03 हजार से कम हो गये। प्रदेश के 72 जिलों में सिंगल डिजिट में कोविड कें संक्रमण आये है। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है, माह जून में लक्ष्य से अधिक टीकाकरण किया गया। आज मुख्यमंत्री ने लखनऊ के एक स्कूल से वृक्षारोपण अभियान का शुभारम्भ किया। बहराइच से नेपाल गये लोगों में कोरोना संक्रमण की जानकारी मिलने पर नेपाल तथा अन्य राज्य की सीमा पर विशेष सर्तकता बरते। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव से कहा है कि प्रदेश के सभी विभागों में सेवारत स्थायी व अस्थायी कार्मिकों के सभी देयकों का तत्काल भुगतान किया जाए। चिकित्सकों/नर्सों जैसे हेल्थवर्कर अथवा फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर के देयकों व मृतक आश्रित लाभ आदि के प्रकरण का तुरंत निराकरण किया जाए। राजस्व विभाग द्वारा घरौनी और वरासत अभियान कार्यक्रमों ने आमजनमानस को बड़ी सुविधा प्रदान करने में सफलता प्राप्त की। मुख्यमंत्री ने राजस्व विभाग द्वारा घरौनी और वरासत अभियान की अद्यतन स्थिति की समीक्षा करने को कहा। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश के राहत आयुक्त ने कहा- सभी तटबंध सुरक्षित, कहीं भी किसी प्रकार की चिन्ताजनक परिस्थिति नहीं

विकास कार्याें का निरीक्षण किया जाए तथा आवश्यकतानुसार धनराशि अवमुक्त की जाए जिससे विकास की गति को आगे बढ़ाया जा सके। आज से प्रारंभ वन महोत्सव में सभी प्रदेशवासी सहभागी हों, इसके लिए लोगों को प्रेरित किया जायेगा। 04 जुलाई को एक वृहद कार्यक्रम पूरे प्रदेश में आयोजित किया जायेगा। अभियान के तहत 30 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। कोरोना से दिवंगत लोगों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए। सभी ग्राम पंचायतों में स्मृति वाटिका तैयार कराई जायेगी। राम वन गमन मार्ग पर अलग-अलग स्थानों पर रामायणकालीन वृक्षों की वाटिका स्थापित कराई जायेगी। मिशन रोजगार के तहत कल मुख्यमंत्री जी कारागार विभाग में जेल वार्डन महिला व पुरुष, घुड़सवार तथा फायरमैन के 6,000 से अधिक पदों पर चयनित अभ्यार्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान करेंगे। गत एक दिन में कुल 2,67,658 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 5,81,11,746 सैम्पल की जांच की गयी है, जो देश में सबसे अधिक पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 163 नये मामले आये। विगत 24 घंटे में 260 लोग तथा अब तक 16,80,980 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके। प्रदेश में कोरोना के कुल 2671 एक्टिव मामले हैं, जिनमें से 1788 लोग होम आइसोलेशन में, प्रदेश में प्रतिदिन की पाॅजिविटी दर 0.06 प्रतिशत व रिकवरी रेट 98.5 प्रतिशत। सर्विलांस की कार्यवाही निरन्तर चल रही है। प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,46,085 घरों के 17,23,21,412 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया। कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में 2,67,92,830 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज तथा 44,88,619 लोगों को दूसरी डोज दी, जिसमें अब तक कुल 3,12,81,449 डोजें लगायी गयी। कल 30 जून, 2021 को बच्चों को टीबी, पोलियो, डिपथीरिया व खसरा के टीके की डोज दी गयी। जून माह में 01 करोड़ के लक्ष्य के सापेक्ष 01 करोड़ 29 लाख से अधिक टीकाकरण किया गया। मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे, सेनेटाइजर व साबुन से हाथ धोते रहे, टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें। अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग करते हुए आशिंक कोरोना कफ्र्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना का संक्रमण नियंत्रित करने में सफलता मिली है। प्रदेश में कोविड-19 का संक्रमण अन्य प्रदेशों एवं देशों के अपेक्षा कम है। आंशिक कोरोना कफ्र्यू के समय से प्रदेश में जीवन और जीविका बचाने के उद्देश्य से औद्योगिक, आर्थिक गतिविधियां, चीने मिले और गेहूॅ खरीद चालू रही। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके इलाज किया जा सके। 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 03 लाख 10 हजार से घटकर आज 03 हजार से कम हो गये है। प्रदेश के 72 जिलों में सिंगल डिजिट में कोविड के संक्रमण आये है। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। माह जून में लक्ष्य से अधिक टीकाकरण किया गया है। सहगल ने बताया कि बहराइच से नेपाल गये लोगों में कोरोना संक्रमण की जानकारी मिलने पर नेपाल तथा अन्य राज्य की सीमा पर विशेष सर्तकता बरती जा रही है। मुख्यमंत्री जी ने मुख्य सचिव से कहा है कि प्रदेश के सभी विभागों में सेवारत स्थायी व अस्थायी कार्मिकों के सभी देयकों का तत्काल भुगतान किया जाए। चिकित्सकों/नर्सों जैसे हेल्थवर्कर अथवा फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर के देयकों व मृतक आश्रित लाभ आदि के प्रकरण का तुरंत निराकरण किया जाए। उन्होंने बताया कि राजस्व विभाग द्वारा घरौनी और वरासत अभियान कार्यक्रमों ने आमजनमानस को बड़ी सुविधा प्रदान करने में सफलता प्राप्त की है। मुख्यमंत्री जी ने राजस्व विभाग द्वारा घरौनी और वरासत अभियान की अद्यतन स्थिति की समीक्षा करने को कहा है। निर्माणाधीन सामुदायिक शौचालय तथा ग्राम्य सचिवालय से जुड़े कार्यों को तेजी से पूरा करने का कहा गया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने मुख्य सचिव को सभी विभागों के विकास कार्याें को तेजी से संचालित कराने को कहा गया है। इन विकास कार्याें का निरीक्षण किया जाए तथा आवश्यकतानुसार धनराशि अवमुक्त की जाए जिससे विकास की गति को आगे बढ़ाया जा सके।

सहगल ने बताया कि आज मुख्यमंत्री जी ने लखनऊ के एक स्कूल से वृक्षारोपण अभियान का शुभारम्भ किया। इस अभियान के तहत 30 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि आज से प्रारंभ वन महोत्सव में सभी प्रदेशवासी सहभागी हों, इसके लिए लोगों को प्रेरित किया जायेगा। इसके साथ-साथ 04 जुलाई को एक वृहद कार्यक्रम पूरे प्रदेश में आयोजित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि कोरोना से दिवंगत लोगों को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए सभी ग्राम पंचायतों में स्मृति वाटिका तैयार कराई जायेगी। राम वन गमन मार्ग पर अलग-अलग स्थानों पर रामायणकालीन वृक्षों की वाटिका स्थापित कराई जायेगी। उन्होंने बताया कि मिशन रोजगार के तहत कल मुख्यमंत्री जी कारागार विभाग में जेल वार्डन महिला व पुरुष, घुड़सवार तथा फायरमैन के 6,000 से अधिक पदों पर चयनित अभ्यार्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान करेंगे। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार प्रदेश में बड़ी संख्या में संक्रमण कम होने के बावजूद, टेस्टिंग कम नहीं की जा रही है। गत एक दिन में कुल 2,67,658 सैम्पल की जांच की गयी है। प्रदेश में अब तक कुल 5,81,11,746 सैम्पल की जांच की गयी है, जो देश में सबसे अधिक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 163 नये मामले आये हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटे में 260 लोग तथा अब तक 16,80,980 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 2671 एक्टिव मामले हैं, जिनमें से 1788 लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में प्रतिदिन की पाॅजिविटी दर 0.06 प्रतिशत है। प्रदेश में रिकवरी रेट 98.5 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस की कार्यवाही निरन्तर चल रही है। प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,46,085 घरों के 17,23,21,412 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में 2,67,92,830 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज तथा 44,88,619 लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी है। अब तक कुल 3,12,81,449 डोजें लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि कल 30 जून, 2021 को बच्चों पर फोकस करते हुए टीबी, पोलियो, डीपथीरिया व खसरा के टीके की डोज दी गयी। जून माह में 01 करोड़ के लक्ष्य के सापेक्ष 01 करोड़ 29 लाख से अधिक टीकाकरण किया गया है। उन्हांेने लोगों से अपील की है कि मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे, सेनेटाइजर व साबुन से हाथ धोते रहे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सात कालिदास मार्ग पर अपने कैंप कार्यालय में किया वृक्षारोपण

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज वन महोत्सव सप्ताह के शुभारंभ के अवसर पर अपने कैंप कार्यालय सात कालिदास मार्ग पर वृक्षारोपण किया।उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने वन महोत्सव सप्ताह (01 से 07 जुलाई) की समस्त प्रदेशवासियों को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं। उन्होने अपने शुभकामना सन्देश में कहा है प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन व तापक्रम में वृद्धि को नियंत्रित रखने में वनों का महत्वपूर्ण योगदान है। साफ सुथरा वातावरण हम सबकी जिम्मेदारी है। वन महोत्सव सप्ताह के अवसर पर मौर्य ने लोगों से अपील की है कि सभी लोग अपने आस-पास वृक्षारोपण करने के साथ ही पौधों के संरक्षण का संकल्प लें, ताकि पर्यावरण संतुलन बना रहे। कहा कि मानव असतित्व व प्रकृति के लिये वनों का होना बहुत ही महत्वपूर्ण है, प्रदेश में 01 से 07 जुलाई तक वन महोत्सव के अवसर पर सघन वृक्षारोपण अभियान चलाया जा रहा है। वृक्ष प्राणवायु आॅक्सिजन के प्राकृतिक स्रोत हैं। हमारी संस्कृति सभ्यता व ज्ञान की नींव का निर्माण ऋषियों, मुनियों ने वनों में रहकर किया। श्री मौर्य ने कहा कि हम सब लोग वृक्षारोपण को अपने जीवन का अनिवार्य अंग बनायें और वृक्षारोपण में अधिक से अधिक जन-सहभागिता सुनिश्चित करें।

इसे भी पढ़ें: UP की खबरें: केशव मौर्य ने PWD के अधिकारियों को इंटरस्टेट रोड की सीमा पर भव्य और आकर्षक द्वार बनाने का दिया निर्देश

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा लोक निर्माण विभाग को 9 लाख 60 हजार पौधे रोपित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसके क्रम में 10 लाख से अधिक पौधे रोपित विभाग द्वारा रोपित किये जायेंगे, इसके आलावा प्रदेश में वातावरण के प्रदुषण एवं बिमारियों से बचाव हेतु लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़कों के किनारे ग्रीन पट्टी बनाकर पौधे लगाकर हर्बल मार्ग के रूप में विकसित किये जाने की इस वर्ष भी ठोस व प्रभावी रणनीति बनायी गयी है। लोक निर्माण विभाग द्वारा 15 अगस्त 2018 से हर्बल मार्ग बनाये जाने की महत्वाकांक्षी योजना का शुभारम्भ किया गया, जिसके तहत चयनित सड़कों के किनारे मासपर्णी, सप्तपर्णी, रतनजोत, जलनीम, छोटा नीम, सहजन, मेथा, लेमनग्रास, भृंगराज, मुई, आंवला, ब्राह्मी, तुलसी, अन्नतमूल, ग्वारपाठा, अश्वगंधा, हल्दी आदि के पौधे जो कई रोगों के निवारण में अत्यन्त उपयोगी हैं, रोपित किये जा रहे हैं। वर्ष 2018-19 में प्रदेश के सभी मण्डलों में 187 किमी0 की लम्बाई की सड़कों के किनारे लगभग 7 हजार पौधे रोपित किये गये। वर्ष 2020-21 में प्रदेश के प्रत्येक खण्ड में एक मार्ग का चयन कर उसे हर्बल मार्ग के रूप में विकसित करते हुये 175 मार्गों की लगभग 875 किमी0 की लम्बाई को हर्बल मार्ग के रूप में चयनित करते हुये लगभग 34 हजार पौधे रोपित कराये गये। कोशिश यह कि जा रही है कि कोरोना जैसी बिमारी से निजात दिलाने में सहायक उन हर्बल पौधों को लगाया जाय, जिनसे लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर हो और पर्यावरण का संतुलन भी बने। उपमुख्यमंत्री मौर्य ने राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस की सभी चिकित्सक बंधुआंे, पैरामेडिकल स्टाफ और देशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं और कोरोना काल में चिकित्सकों ने अपने घर परिवार की परवाह किये बिना जो समाज सेवा की है, उसके लिये उन्होने सम्पूर्ण चिकित्सा जगत से जुड़े लोगों का अभिनन्दन करते हुये उनके प्रति आभार जताया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।