बुजुर्ग महिला की मौत पर धर्मेंद्र प्रधान ने साधा TMC पर निशाना, संवेदना जताने की बजाए कटाक्ष करना, ज़िम्मेदारी से भागना है

Dharmendra Pradhan
अभिनय आकाश । Mar 30, 2021 12:19PM
केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने कहा कि एक बुजुर्ग महिला पर हमला हुआ जिससे उनकी तबियत बिगड़ी और उनका निधन हुआ। संवेदना जताने के बजाए कटाक्ष करना और उत्तर प्रदेश के बारे में बात करना, ये अपनी ज़िम्मेदारी से भागना है। उनको(ममता बनर्जी) पराजय का डर सताने लगा है।

पश्चिम बंगाल में 30 सीटों के लिए 1 अप्रैल को दूसरे चरण का मतदान है। लेकिन उससे पहले ही सूबे की सियासत तेज हो गई है। सोमवार को 85 साल की बुजुर्ग महिला शोवा मजूमदार की मौत हो गई। जिसके बाद इसकों लेकर अमित शाह ने लेकर बीजेपी के कई नेताओं ने ममता सरकार पर निशाना साधा है। केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने कहा कि एक बुजुर्ग महिला पर हमला हुआ जिससे उनकी तबियत बिगड़ी और उनका निधन हुआ। संवेदना जताने के बजाए कटाक्ष करना और उत्तर प्रदेश के बारे में बात करना, ये अपनी ज़िम्मेदारी से भागना है। उनको(ममता बनर्जी) पराजय का डर सताने लगा है। 

इसे भी पढ़ें: कोलकाता के होली मिलन समारोह में भड़के बाबुल सुप्रियो, बीजेपी दफ्तर में कार्यकर्ता को जड़ा तमाचा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ममता बनर्जी ने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है। पिछले दो दिन से नंदीग्राम में हम उनके कार्यक्रम देख रहे हैं, लोगों से जिस तरह से उन्हें नकारात्मक प्रतिक्रिया मिल रही है उससे उन्हें घोर निराशा हो रही है। उससे घबराकर वो कुछ भी कह रही हैं। गौरतलब है कि शोवा मजूमदार की पिटाई का आरोप बीजेपी की ओर से तृणमूल कांग्रेस पर लगाया गया था। शोवा मजूमदार बीजेपी कार्यकर्ता गोपाल मजूमदार की मां थीं। 

टीएमसी ने बीमारियों से मौत को बताया वजह

टीएमसी सांसद सौगत राय ने कहा कि एक महीने पहले बीजेपी कार्यकर्ता गोपाल मजूमदार के घर के सामने टीएमसी कार्यकर्ता से विवाद हुआ था। इसमें गोपाल नीचे गिर गया। उसकी मां को लगा कि मेरे बेटे पर हमला हुआ है, तो वो भी दौड़ीं, इससे गिरकर वो भी घायल हो गईं। उन्होंने कहा कि शोवा मजूमदार का निधन कई बीमारियों की वजह से हुआ है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़