PFI पर अब डिजिटल स्ट्राइक, Twitter एकाउंट बंद किया गया

PFI
creative common
‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ को पांच साल के लिए प्रतिबंधित किए जाने के एक दिन बाद बृहस्पतिवार को उसका ट्विटर खाता बंद कर दिया गया।

नयी दिल्ली। आईएसआईएस जैसे वैश्विक आतंकवादी संगठन के साथ कथित ‘‘संबंधों’’ और देश में साम्प्रदायिक तनाव फैलाने की कोशिश करने को लेकर सरकार द्वारा ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ को पांच साल के लिए प्रतिबंधित किए जाने के एक दिन बाद बृहस्पतिवार को उसका ट्विटर खाता बंद कर दिया गया। ट्विटर पेज पर एक संदेश में कहा गया, ‘‘खाता बंद कर दिया गया है। पीएफआई के खाते को कानूनी मांग पर भारत में बंद कर दिया गया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: असम में PFI के तीन दफ्तर सील, सदस्यों पर रखी जा रही है कड़ी नजर

पीएफआई पर देश के साम्प्रदायिक और धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने को ‘‘बिगाड़ने’’ और अपनी कट्टरपंथी विचारधारा को आगे बढ़ाने एवं हिंदू कार्यकर्ताओं को लक्ष्य बनाकर उनकी कथित रूप से हत्या करने के अलावा भारत में राजनीतिक इस्लाम की स्थापना का आह्वान करके राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए ‘‘गंभीर खतरा’’ पैदा करने का आरोप लगाया गया है। गृह मंत्रालय ने आरोप लगाया कि पीएफआई आतंकवाद आधारित एक प्रतिगामी शासन को प्रोत्साहित कर रहा है और उसे लागू करने की कोशिश कर रहा है, वह देश विरोधी भावनाओं का प्रचार करता है और देश के खिलाफ नाराजगी पैदा करने के लिए समाज के एक विशेष वर्ग को कट्टरपंथी बना रहा है और वह ऐसी गतिविधियों को बढ़ावा दे रहा है जो देश की अखंडता, सुरक्षा एवं संप्रभुता के लिए हानिकारक हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़