लंबित वेतन के मुद्दे पर हिंदूराव अस्पताल के डॉक्टरों ने किया विरोध प्रदर्शन, फूंका रावण का पुतला

Delhi Doctors'
हिंदू राव अस्पताल के पांच रेजिडेंट डॉक्टरों ने पिछले तीन महीने का वेतन जारी करने की मांग को लेकर शुक्रवार को बेमियादी भूख हड़ताल शुरू की थी।

नयी दिल्ली। उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा संचालित हिंदू राव अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टरों ने लंबित वेतन न दिए जाने के विरोध में यहां कनॉट प्लेस पर प्रदर्शन किया। उन्होंने अपनी मांग पर ध्यान आकर्षित करने के लिए रावण का पुतला भी फूंका। हिंदू राव अस्पताल के पांच रेजिडेंट डॉक्टरों ने पिछले तीन महीने का वेतन जारी करने की मांग को लेकर शुक्रवार को बेमियादी भूख हड़ताल शुरू की थी। इस बीच उत्तरी दिल्ली के महापौर जय प्रकाश ने प्रदर्शनकारियों से मिलकर उनसे अनशन समाप्त करने का आग्रह किया। 

इसे भी पढ़ें: देशभर में सादगी से मनाया गया दशहरा, कोरोना का पुतला दहन किया गया 

उन्होंने कहा, “एनडीएमसी ने संघ द्वारा उठाई गयी सात मांगों पर काम करना शुरू कर दिया है। हमें उम्मीद है कि सभी डॉक्टर जल्द ही काम पर लौटेंगे।” इससे पहले हिंदू राव अस्पताल के रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के सदस्यों ने कस्तूरबा अस्पताल और राजन बाबू टीबी अस्पताल के डॉक्टरों के साथ मिलकर यहां स्थित जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन किया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़