चक्रवात यास के असर से वाराणसी में बूंदाबांदी शुरू, बादलों ने गिराया शहर का पारा

चक्रवात यास के असर से वाराणसी में बूंदाबांदी शुरू, बादलों ने गिराया शहर का पारा
प्रतिरूप फोटो

मौसम का रुख बूंदाबांदी की ओर होने के साथ ही सुबह ठंडी हवाओं का भी असर रहा और बादलों की आवाजाही के बीच उमस से लोगों को राहत भी मिली। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि आने वाले दिनों में मौसम का रुख और भी तल्‍ख होगा। जबकि अगले चौबीस घंटों में बादलों के बारिश कराने की संभावना बनी हुई है।

पूर्वांचल में बंगाल की खाड़ी से उठा तूफान यास अब असर करने लगा है। देर रात से ही कुछ इलाकों में बूंदाबांदी शुरू हो गई थी। जबकि सुबह तक कई इलाकों में बूंदाबांदी होती रही। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि अगले कुछ दिनों में चक्रवात का असर बना रहेगा। जबकि जून की शुरुआत होने के बाद मौसम का रुख थोड़ा और तल्‍ख होगा। जबकि इसके बाद दूसरे पखवारे से मानसून के आगमन के बाद मौसम के रुख में थोड़ा बदलाव होगा और वातावरण काफी हद तक सामान्‍य हो जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: ‘जहां बीमार, वहीं उपचार’ पीएम मोदी के मंत्र से प्रेरित हो वाराणसी में शुरू हुआ सेवा वाहन

हालांकि, अब अगला पूरा एक पखवारा मौसम के लिहाज से तल्‍खी वाला ही साबित होने जा रहा है। गुरुवार की सुबह आसमान में बादलों की आवाजाही का रुख बना रहा। मौसम का रुख बूंदाबांदी की ओर होने के साथ ही सुबह ठंडी हवाओं का भी असर रहा और बादलों की आवाजाही के बीच उमस से लोगों को राहत भी मिली। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि आने वाले दिनों में मौसम का रुख और भी तल्‍ख होगा। जबकि अगले चौबीस घंटों में बादलों के बारिश कराने की संभावना बनी हुई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।