वरिष्ठ पत्रकार ई सोमनाथ का निधन

Journalist Death
सोमनाथ के परिवार में पत्नी राधा और पुत्री देवकी हैं। सोमनाथ ने 30 से अधिक वर्षों तक केरल विधानसभा की कार्यवाही की रिपोर्टिंग की और उनके कॉलम ‘‘नादुथलम’’ को विधानसभा की कार्यवाही, विधायकों और राजनीतिक दलों से जुड़े विषयों पर तीखी टिप्पणी के लिए जाना जाता था।

तिरुवनंतपुरम|  वरिष्ठ पत्रकार ई सोमनाथ का शुक्रवार को यहां एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। उनके पारिवार के सदस्यों ने यह जानकारी दी। सोमनाथ 58 वर्ष के थे। राजनीतिक और पर्यावरण विषयों पर गहरी पकड़ रखने वाले पत्रकार सोमनाथ का यहां एक निजी अस्पताल में मस्तिष्काघात का इलाज चल रहा था।

राजनीतिक और विधानसभा रिपोर्टिंग में अनुभवी सोमनाथ पिछले साल मलयालम के अखबार ‘मलयाला मनोरमा’ से सेवानिवृत्त हुए।

सोमनाथ के परिवार में पत्नी राधा और पुत्री देवकी हैं। सोमनाथ ने 30 से अधिक वर्षों तक केरल विधानसभा की कार्यवाही की रिपोर्टिंग की और उनके कॉलम ‘‘नादुथलम’’ को विधानसभा की कार्यवाही, विधायकों और राजनीतिक दलों से जुड़े विषयों पर तीखी टिप्पणी के लिए जाना जाता था।

केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान, मुख्यमंत्री पिनराई विजयन, नेता प्रतिपक्ष वी डी सतीसन, विधानसभा अध्यक्ष एम बी राजेश और पूर्व नेता प्रतिपक्ष रमेश चेन्नीथला सहित अन्य नेताओं ने अनुभवी पत्रकार के निधन पर शोक व्यक्त किया। राज्यपाल ने ट्वीट किया, ‘‘उनकी प्रसिद्ध राजनीतिक रिपोर्ट, व्यंग्य, विश्लेषण और पर्यावरण पर लेखन ने उन्हें पाठकों के बीच प्रिय बना दिया। मैं संवेदना प्रकट करता हूं।’’

विजयन ने कहा, ‘‘सोमनाथ दो दशकों से अधिक समय तक राजधानी में बतौर पत्रकार सक्रिय रहे। वह एक प्रख्यात पत्रकार थे, जिन्होंने विधानसभा रिपोर्टिंग और अपने साप्ताहिक कॉलम में उत्कृष्ट लेखन किया।’’

राजेश ने कहा कि विधानसभा की कार्यवाही पर सोमनाथ का विश्लेषण बहुत उल्लेखनीय था। चेन्नीथला ने कहा कि सोमनाथ ने हमेशा पत्रकारिता की गरिमा को कायम रखा।

चेन्नीथला ने कहा, ‘‘उन्होंने अपने चुटीले और शानदार लेखन से विधानसभा रिपोर्टिंग को एक नया आयाम दिया।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़