उत्तर प्रदेश की खबरें: मुख्यमंत्री के जीवन और व्यक्तित्व पर केंद्रित पुस्तक 'राजपथ पर एक सच्चा संन्यासी' का लोकार्पण

उत्तर प्रदेश की खबरें: मुख्यमंत्री के जीवन और व्यक्तित्व पर केंद्रित पुस्तक 'राजपथ पर एक सच्चा संन्यासी' का लोकार्पण

उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान एवं अनामिका प्रकाशन, प्रयागराज के संयुक्त तत्वावधान में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जीवन और व्यक्तित्व पर केन्द्रित पुस्तक ‘राजपथ पर एक सच्चा संन्यासी‘ का लोकार्पण हिन्दी भवन यशपाल सभागार में किया गया।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार लगातार काम कर रही है। सरकार द्वारा आज भी कई बड़े निर्णय लिए गए। आइए पढ़ते हैं उत्तर प्रदेश की दिनभर की आज की बड़ी खबर।

दुधवा टाइगर रिजर्व को प्रतिष्ठित अन्तर्राष्ट्रीय प्रमाणन पुरस्कार

वैश्विक बाघ दिवस 29 जुलाई, 2021 के अवसर पर नई दिल्ली में आयोजित समारोह में यह सम्मान देश के 13 अन्य टाइगर रिजर्वों सहित दुधवा टाइगर रिजर्व, उत्तर प्रदेश को भी दिये जाने के सम्बन्ध में भूपेन्द्र यादव, मंत्री, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जानकारी दी गयी। यह अलंकरण विश्व स्तर पर व्याघ्र संरक्षण अथवा लक्षित प्रजाति के संरक्षण हेतु किये जा रहे प्रबन्धन के उच्चतम मापदण्डों पर खरा उतरने वाले टाइगर रिजर्वों/संरक्षित क्षेत्रों को ही दिया जाता है। संरक्षण के प्रयासों को मापने हेतु वैश्विक तौर पर स्वीकृत इस प्रमाणन से यह स्पष्ट होता है कि सम्बन्धित संरक्षित क्षेत्र का प्रबन्धन बेहतर तरीके से किया जा रहा है। वर्ष 2013 में औपचारिक रूप से आरम्भ हुये प्रमाणन की इस प्रक्रिया में वाह्य अभिकरणों एवं विशेषज्ञों द्वारा राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय तौर पर कई कसौटियों पर प्रबन्धन का मूल्यांकन किया जाता है, जिसमें साक्ष्यों का परीक्षण भी किया जाता है। पूर्णतया सन्तुष्ट होने पर ही प्रमाणन प्रदान किया जाता है।

दुधवा टाइगर रिजर्व को यह उपलब्धि बाघ संरक्षण के लिये निरन्तर किये जा रहे प्रयासों, जैव विविधता संरक्षण, बाघ संरक्षण के साथ-साथ हित ग्राहियों के आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक उन्नयन में योगदान, अन्तर्विभागीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय समन्वय, उन्नत प्राकृतवास सम्वर्द्वन, प्रभावी प्रवर्तन एवं शिकार रोधी प्रयासों, प्रबन्धन तंत्र की पारदर्शिता, कुशलता एवं उत्तरदायी दृष्टिकोण, मानव-वन्य जीव नकारात्मक अन्तरापृष्ठ सम्बन्धी घटनाओं की रोकथाम हेतु किये जा रहे प्रयास, स्थानीय समुदायों की भागीदारी सुनिश्चि करने हेतु उनके साथ समुचित सामन्जस्य, सुदृढ़ अवसंरचनात्मक ढांचे की उपलब्धता, बेहतर पर्यटन अवसंरचना की उपलब्धता, प्रकृति व्याख्या हेतु किये जा रहे कार्य, परिष्कृत एम-स्ट्राईप्स ऐप का उपयोग करते हुये प्रभावी पेट्रोलिंग, अपराध अनुश्रवण एवं नियंत्रण, वन्य जीव प्रबन्धन हेतु प्रशिक्षित कर्मचारियों की उपलब्धता इत्यादि बिन्दुओं के आलोक में प्राप्त हो सकी है। दुधवा टाइगर रिजर्व, राष्ट्रीय व्याघ्र संरक्षण प्राधिकरण, भारत सरकार एवं भारतीय वन्य जीव संस्थान, देहरादून द्वारा तैयार किये गये परिष्कृत एम स्ट्राईप्स ऐप का उपयोग करते हुये वन क्षेत्रों में प्रभावी गश्त करने के मामले में देश में अग्रणी रहा है। इसके अतिरिक्त रिजर्व के वैज्ञानिक ढंग से प्रबन्धन पर भी भरपूर बल दिया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में तेजी से चल रहा वैक्सीनेशन, पिछले 24 घंटों में 4,33,110 खुराक लगाई गई 

देश के टाइगर रिजर्वो में अन्तर्राष्ट्रीय तौर पर प्रतिष्ठित यह उपलब्धि प्राप्त करना उत्तर प्रदेश राज्य के लिये गौरव का विषय है। राज्य अपने राष्ट्रीय पशु बाघ एवं उसके प्राकृतवास संरक्षण हेतु सतत् प्रयत्नशील एवं कृत संकल्प है।

रात्रि निरीक्षण एवं मॉर्निंग रेड में पकड़ी गई 42 विद्युत चोरियां प्रबन्ध निदेशक, मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लि सूर्यपाल गंगवार द्वारा 33/11 केवी न्यू कैंट विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण करते हुए फीडर पर लगे परिवर्तकों की जानकारी तथा केबिल की जानकारी को अन्य उपकेन्द्रों पर भी लगवाये जाने हेतु निर्देशित किया जिससे की विद्युत उपभोक्ताओं को क्षेत्र के परिवर्तकों की स्थिति की सही जानकारी मिल सके।

निदेशक (तकनीकी) मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लि ने विद्युत नगरीय वितरण खण्ड के 33/11 केवी राधाग्राम विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण किया। निरीक्षण में सभी फीडरों को चेक किया गया। फीडर का लोड सामान्य था। विद्युत नगरीय वितरण खण्ड, राजभवन के 33/11 केवी क्लाइव रोड, विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण निदेशक (काप्र एवं प्रशासन) द्वारा किया गया। उपकेन्द्र में कुछ तकनीकी खामियां पायी गयी थी, जिन्हें ठीक करवाने हेतु सम्बन्धित अधिशासी अभियन्ता को निर्देशित किया गया। उपकेन्द्र का विद्युत लोड भी सामान्य पाया गया।

मुख्य अभियन्ता (वितरण) लेसा सिस-गोमती, ने विद्युत नगरीय वितरण खण्ड, रेजीडेन्सी के हनुमान सेतु विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण किया। निरीक्षण में सभी फीडरों पर लोड सामान्य था। अधीक्षण अभियन्ता, विद्युत नगरीय वितरण मण्डल-षष्ठम् द्वारा महानगर क्षेत्र के 33/11 के0वी0 विद्युत उपकेन्द्र का रात्रि निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में उपकेन्द्र के सभी परिवर्तकों का लोड एवं ट्रिपिंग सामान्य पायी गयी। अधीक्षण अभियन्ता, विद्युत नगरीय वितरण मण्डल-नवम, इन्दिरानगर क्षेत्र के 33/11 केवी0 सेक्टर-25 विद्युत उपकेन्द्र का निरीक्षण किया गया। उपकेन्द्र के सभी फीडरों पर विद्युत सप्लाई सामान्य पायी गयी। अधीक्षण अभियन्ता, विद्युत नगरीय वितरण मण्डल-प्रथम, राजभवन द्वारा पीक ऑवर्स में उपकेन्द्र में लगे परिवर्तकों का निरीक्षण लोड बैलेसिंग का कार्य किया गया। अधीक्षण अभियन्ता, विद्युत नगरीय वितरण मण्डल-द्वितीय, द्वारा 33/11 के0वी0 विद्युत उपकेन्द्र मंत्री आवास एवं गोमती नगर और के अन्तर्गत सेक्टर-4 में स्थापित विद्युत उपकेन्द्र तथा चिनहट के 33/11 के०वी० विद्युत उपकेन्द्र में नाइट पैट्रोलिंग की गयी। निरीक्षण में सभी उपकेन्द्रों के परिवर्तकों एवं फीडरों का लोड सामान्य पाया गया तथा विद्युत सम्बन्धित शिकायते भी शून्य पायी गयी। निदेशक (तकनीकी), द्वारा राधाग्राम के रात्रि निरीक्षण के उपरान्त अधिशासी अभियन्ता, विद्युत नगरीय वितरण खण्ड, ठाकुरगंज द्वारा राधाग्नाम उपकेन्द्र से सम्बन्धित क्षेत्रों में विशेष मॉर्निंग रेड अभियान चलाया गया। जिसमें 11 विद्युत उपभोक्ता विद्युत चोरी में लिप्त पाये गये। जिनके विरुद्ध स्थानीय थाने में एफ0आई0आर0 दर्ज करायी गयी। 

इसे भी पढ़ें: सीएमओ, बीआरडी प्रधानाचार्य व समस्त विभागों के प्रभारी डॉक्टरों के साथ डीएम ने की बैठक 

अधिशासी अभियन्ता, विद्युत नगरीय वितरण खण्ड, सीतापुर रोड द्वारा खण्ड के फैजुल्लागंज विद्युत उपकेन्द्र की विद्युत सप्लाई एवं विद्युत सम्बन्धी शिकायतों का अनुश्रवण किया गया एवं 400 के०वीए० के दो परिवर्तकों के लोड को भी बैलेंस करने सम्बन्धी कार्य किया गया। विद्युत नगरीय वितरण खण्ड, अपट्रांन में अधीक्षण अभियन्ता विद्युत नगरीय वितरण मण्डल-तृतीय, अपट्रॉन द्वारा विद्युत उपकेन्द्र का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में उपकेन्द्र के 11 के0वी0ए0 फीडरों पर लोड सामान्य पाया गया। अपट्रॉन डिवीजन के अधिशासी अभियन्ता द्वारा मॉर्निंग रेड चलाकर नज़फ रोड, खरियायी, छोट शाह आलम रोड, हैदरगंज, मेंहदीगंज इत्यादि क्षेत्रों में लगभग 100 परिसरों की जांच की गयी। 8 विद्युत उपभोक्ताओं द्वारा भार बढवाया गया, 21 विद्युत उपभोक्ताओं विद्युत संयोजन बकाया होने पर विच्छेदित किया गया। जिन पर कुल बकाया धनराशि रू0 4.41 लाख थी तथा 31 विद्युत उपभोक्ताओं द्वारा विद्युत चोरी में लिप्त पाये जाने पर धारा 135 के अन्तर्गत एफ0आई0आर0 दर्ज करायी गयी।

अधिशासी अभियन्ता, विद्युत नगरीय वितरण खण्ड, रहीमनगर द्वारा 33/11 के0वी0 विकास नगर उपकेन्द्र के स्वीचयार्ड कानिरीक्षण किया गया। निरीक्षण में बस बार में तकनीकी फॉल्ट पाया गया। जिसे तत्काल दूर कर विद्युत आपूर्ति सामान्य कर दी गयी। वर्तमान में उपकेन्द्र के सभी फीडरों पर लोड सामान्य है। अधिशासी अभियन्ता, विद्युत वितरण खण्ड, सेस-चतुर्थ ने सरोजनी नगर से रहीमाबाद की ओर आ रही 132 के0वी0 लाइन में तकनीकी व्यवधान आने के कारण 33 के0वी0 मलिहाबाद क्षेत्र में जो विद्युत आपूर्ति बाधित हुई थी। उस पर तत्काल कार्यवाही करवाकर आज प्रातः विद्युत आपूर्ति सामान्य करा दी। विद्युत वितरण मण्डल, सेस-प्रथम, मे अधिशासी अभियन्ता द्वारा 33/11 के0वी0 उतरेटिया उपकेन्द्र के अन्तर्गत जी ब्लॉक, साउथ सिटी में नाइट पैट्रोलिंग कर 250 के0वी०ए० के परिवर्तक के लोड को बैलेंस करने सम्बन्धी कार्य किया गया।

‘राजपथ पर एक सच्चा संन्यासी‘ पुस्तक का हुआ लोकार्पण

उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान एवं अनामिका प्रकाशन, प्रयागराज के संयुक्त तत्वावधान में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जीवन और व्यक्तित्व पर केन्द्रित पुस्तक ‘राजपथ पर एक सच्चा संन्यासी‘ का लोकार्पण हिन्दी भवन यशपाल सभागार में किया गया।

उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ सदानन्द प्रसाद गुप्त की अध्यक्षता में आयोजित पुस्तक लोकार्पण में मुख्य अतिथि के रूप में पाधरे विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित एवं संसदीय कार्यमंत्री सुरेश कुमार खन्ना उपस्थित हुये।

मुख्य अतिथि के रूप में हृदय नारायण दीक्षित ने कहा -हमारे देश में इतिहास बोध का महत्व दिया जाता है, जो देश इतिहास को हमत्व नहीं देता इतिहास उसे कभी माफ नहीं करता है। साहित्य सृजन में इतिहास के तत्व रहते हैं। लेखक ने अपनी पीढ़ी के लिए इतिहास इस पुस्तक में नाथ सम्प्रदाय के इतिहास पर प्रकाश डाला है। यह प्रस्तक नाथ सम्प्रदाय की सुन्दर जानकारी प्रदान करती है। लेखक ने इस पुस्तक में लेखक ने इतिहास में हस्तक्षेप करते हुए अपनी लेखनी चलायी है। लेखक ने योगी जी के व्यक्तित्व के राष्ट्रवादी धार्मिक निर्भीकता, बिरलता का व्यौरेवार चित्रण अपनी पुस्तक में लेखक ने किया है। लेखक ने पूरी पुस्तक में योगी के लोक श्रद्धाभाव को अच्छे ढ़ग से चित्रित किया है। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की बड़ी खबरें: सतीश महाना बोले- चित्रकूट-दिल्ली एक्सप्रेस हाईवे 60 प्रतिशत पूर्ण 

सम्माननीय अतिथि के रूप सुरेश खन्ना, माननीय संसदीय कार्यमंत्री, उत्तर प्रदेश ने अपने सम्बोधन में कहा -योगी जी का जीवन बहुरंगी व्यक्तित्व है, वे कर्मठ एवं कुशल प्रशासक के रूप में अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं। धर्म हमें कर्तत्व सिखाता है। योगी जी एवं धर्मपरायण व्यक्ति है उसकी छाप पूरे प्रदेश पर पड़ी है। उनका उद्देश्य है कि उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश में बदलने की चेष्टा की जा रही है। वे हमेशा एक बड़े सिद्धान्त व विचारधारा को मानने वालें व्यक्ति है। राजनीति के क्षेत्र में उनकी लोकप्रियता दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही चली जा रही है। वे साहित्यिक अभिरुचि के व्यक्ति है। न्याय एवं ईमानदारी के पक्षधर हैं। उन्होंने सन्यास धर्म का पालन भी किया है। उनकी छवि एक निर्भीक राजनीतिक के रूप में जाने जाते हैं। उनकी कुशल प्रशासनिक व्यवस्था के कारण ही प्रदेश निरन्तर प्रगति के पथ पर अग्रसर है।

योगी लोकतंत्र की धारणा के प्रति पूर्ण श्रद्धावान हैं। लेखक ने अपनी पुस्तक में नाथ सम्प्रदाय पर विशेष जानकारी प्रदान की है। लेखन और पुस्तक का यश निरन्तर बढ़ता रहे।

अध्यक्षीय सम्बोधन में डॉ सदानन्दप्रसाद गुप्त, कार्यकारी अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान ने कहा कि धर्म का सम्बन्ध कर्तव्य बोध से होता है। इस पुस्तक में लेखक ने इतिहास को बनते हुए देखा है। जो लेखक ने देखा उसे अपनी पुस्तक में रेखांकित भी किया। लेखक ने योगी जी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व का विस्तार से वर्णन किया है। योग साधना का महत्व नाथ सम्प्रदाय में अधिक रहा है। योगी जी निष्काम कर्म की साधना को अपने जीवन में उतार कर प्रदेश के सांस्कृतिक पक्ष को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। पुस्तक महत्वपूर्ण जानकारी से परिपूर्ण है। इस पुस्तक से निश्चित रूप से नाथ सम्प्रदाय, योग दर्शन आदि के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान करती है।

पुस्तक मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ के जीवन और व्यक्तित्व पर आधारित है, साथ ही प्रेरणादायी है।

अभ्यागतों का स्वागत एवं अभार व्यक्त करते हुए श्रीकांत मिश्रा, निदेशक, उप्र हिन्दी संस्थान ने कहा उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान एवं अनामिका प्रकाशन, प्रयागराज के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस लोकर्पण समारोह में आप सब का स्वागत एवं अभिनन्दन है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जीवन और व्यक्तित्व पर केन्द्रित डॉ आदित्य पी त्रिपाठी द्वारा रचित पुस्तक ‘राजपथ पर एक सच्चा संन्यासी‘ के लोकार्पण समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में पाधरें हृदय नारायण दीक्षित, अध्यक्ष विधानसभा, उत्तर प्रदेश के प्रति हिन्दी संस्थान परिवार हृदय से अभारी है। आपने हिन्दी भवन में आयोजित इस समारोह में कृपापूर्वक पधारने का अनुग्रह किया। हम सुरेश खन्ना, संसदीय कार्यमंत्री के प्रति भी कृतज्ञ हैं, आपने अपने व्यस्ततम समय में से कुछ समय हमारे लिए सुरक्षित किया। हम डॉ सदानन्द प्रसाद गुप्त, कार्यकारी अध्यक्ष महोदय के प्रति भी आभारी हैं, जिन्होंने हमें यह भव्य आयोजन करने का अवसर प्रदान किया।

इस अवसर पर पधारें सभी अतिथियों के प्रति भी हम साधुवाद व्यक्त करते हैं। आपने कोरोना की विषम परिस्थिति में भी यहाँ उपस्थित होकर न केवल हमारा मनोबल बढ़ाया बल्कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने में भी सहयोग दिया। हम विशेष आभारी हैं, दिनेश कुमार शुक्ल, प्रबंध निदेशक, अनामिका प्रकाशन एवं मानस कार्तिकेय के प्रति जिन्होंने यशस्वी मुख्यमंत्री के जीवन और उनके व्यक्तित्व पर केन्द्रित पुस्तक का प्रकाशन किया। सभी पत्रकारों, मीडिया कर्मियों को भी शुभकामनाएँ आपका सहयोग हमें निरन्तर मिलता रहता है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।