सीएमओ, बीआरडी प्रधानाचार्य व समस्त विभागों के प्रभारी डॉक्टरों के साथ डीएम ने की बैठक

सीएमओ, बीआरडी प्रधानाचार्य व समस्त विभागों के प्रभारी डॉक्टरों के साथ डीएम ने की बैठक
प्रतिरूप फोटो

अगर कोरोना की तीसरी वेव आती है तो सभी को कोरोना से बचाएंगे किसी को भी कोरोना संक्रमित नहीं होने देंगे। जनपद में शत प्रतिशत कोविड-19 टीका लगाएंगे- जिलाधिकारी

गोरखपुर। जिलाधिकारी विजय किरन आनंद जिलाधिकारी सभागार में सीएमओ , एसीएमओ, बीआरडी प्रधानाचार्य सहित समस्त प्रभागों के प्रभारी डॉक्टरों के साथ बैठक किया। बैठक करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण महामारी की सेकंड वेव में आप लोगो ने अपनी जान की परवाह ना करते हुए आम जनमानस को अस्पतालों में कड़ी मेहनत करते हुए जान बचाई। उसी का नतीजा है कि अब जनपद में नहीं के बराबर कोविड-19 के मरीज मिल रहे हैं। उसी तरह आगे भी अब तक किए गए तैयारियों तो आगे जारी रखते हुए हम सभी मिलकर यह संकल्प लेंगे की अगर कोरोना की तीसरी वेव आती है तो सभी को कोरोना से बचाएंगे किसी को भी कोरोना संक्रमित नहीं होने देंगे। जनपद में शत प्रतिशत कोविड-19 टीका लगाएंगे।

आगे डीएम ने कहा कि गंदगी ही सभी बीमारियों की जड़़ है। स्वच्छता व सावधानी अपनाकर हम अनेक प्रकार की बीमारियों से बच सकते हैं। मस्तिष्क ज्वर जैसी भयंकर बीमारी से समाज में जन जागरुकता फैलाकर ही बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि मस्तिष्क ज्वर मुख्यत: जल जनित रोग है। जो दूषित पानी तथा मच्छर के काटने से फैलता है। बच्चे को सिर दर्द, तेज बुखार, तेज सांस व्यवहार में बदलाव होने पर मस्तिष्क ज्वर की संभावना होती है। ऐसी स्थिति में मरीज का इलाज नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में प्रशिक्षित डाक्टर से करावें। संक्रमित मच्छर जब जानवरों को काटता है तो उनमें बीमारी के लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। 

परन्तु जब यही मच्छर जब बच्चों को काटता है तो दिमागी बुखार के लक्षण उत्पन्न होते हैं। जो सही इलाज के अभाव में प्राण घातक सिद्ध होता है। उन्होंने कहा कि इस बीमारी के बचाव के लिए घरों के आस पास सफाई रखें। पानी न इकट्ठा होने दें तथा मच्छरदानी का प्रयोग करें। वहीं एक से दो वर्ष तक के बच्चों को जेई का टीका अवश्य लगवाएं। बैठक में सीडीओ इंद्रजीत सिंह ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सुमित महाजन प्रधानाचार्य बीआरडी मेडिकल कॉलेज डॉ गणेश, सीएमओ डॉक्टर सुधाकर पांडेय, डॉक्टर एन के पांडेय, डॉक्टर प्रसाद , डॉक्टर ए के चौधरी, डॉक्टर ए के सिंह डॉक्टर एस एन त्रिपाठी, डॉ नंदकुमार, डॉ रामेश्वर मिश्रा, एसआईसी पुरुष व महिला सहित संबंधित अन्य प्रभागों के प्रभारी डॉक्टर मौजूद रहे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।