मेरठ में लाखो रुपये मूल्य की नामी कंपनियों की नकली घड़‍ियां बरामद

मेरठ में लाखो रुपये मूल्य की नामी कंपनियों की नकली घड़‍ियां बरामद

घंटाघर कोटला बाजार के दो शोरूम पर टाइटन कंपनी की लीगल टीम के साथ दबिश देकर नकली घड़ियों का जखीरा बरामद किया है। उनके पास से करीब 10 लाख रुपये की नमी ब्रांडो के साथ टाइटन के अलावा सोनाटा और फास्ट्रैक ब्रांड की भी नकली घड़ियां बरामद की गई हैं।

मेरठ,दिल्ली से ब्रांडेड कंपनियों का नकली माल लाकर मेरठ और आसपास के क्षेत्रों में बेचा जा रहा था। पुलिस ने इसकी शिकायत पर कार्यवाही करते हुए घंटाघर कोटला बाजार के दो शोरूम पर टाइटन कंपनी की लीगल टीम के साथ दबिश देकर नकली घड़ियों का जखीरा बरामद किया है। उनके पास से करीब 10 लाख रुपये की नमी ब्रांडो के साथ टाइटन के अलावा सोनाटा और फास्ट्रैक ब्रांड की भी नकली घड़ियां बरामद की गई हैं। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है। कंपनी की लीगल टीम के हेड की तहरीर पर पुलिस ने देहली गेट थाने में मुकदमा दर्ज किया है।

सीओ अरविंद चौरसिया ने बताया कि कंपनी अधिकारी गौरव तिवारी ने बताया कि कोटला क्षेत्र में टाइटन, सोनाटा और फास्ट्रैक कंपनी की नकली घडिय़ां बेची जा रही हैं। सीओ ने टीम बनाकर पहले खरीदारी कराई, जिसके बाद मेट्रो वाच दुकान के मालिक अंसान निवासी अख्तर मस्जिद घंटाघर थाना देहली गेट और नेशनल वाच दुकान के मालिक मुगीस निवासी करम अली थाना कोतवाली को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से टाइटन, सोनाटा और फास्ट्रैक कंपनी की एक हजार से ज्यादा नकली घडिय़ां बरामद हुई हैं, जिनकी कीमत 10 लाख रुपये से ज्यादा बताई जा रही है। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वह कई सालों से आसपास के क्षेत्रों में भी सप्लाई कर रहे थे। रिपोर्ट दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। गुरुवार को दोनों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। जानकारी मिलने पर व्यापारी नेता रजनीश कौशल, सुधीर अग्रवाल और दलजीत सिंह भी पहुंचे। उन्होंने भी आरोपितों पर कार्रवाई की मांग की।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।