उत्तर प्रदेश के बागपत में कर्ज में डूबे किसान ने आत्महत्या की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 3, 2021   08:12
उत्तर प्रदेश के बागपत में कर्ज में डूबे किसान ने आत्महत्या की

पुलिस ने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और जांच जारी है। मृतक के परिजनों ने संवाददाताओं को बताया कि उसने बैंक से करीब सात लाख रुपये और एक स्थानीय कर्जदाता से तीन लाख रुपये का कर्ज लिया था।

बागपत (उत्तर प्रदेश)|  बागपत जिले के एक गांव में कर्ज में डूबे किसान ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। उसके संबंधियों ने यह जानकारी दी। घटना यहां कोतवाली थाना क्षेत्र के बिहारीपुर गांव की है।

पुलिस के अनुसार, चौधरी अनिल कुमार (45) को मंगलवार सुबह उसके पड़ोसी के खेत में एक पेड़ से लटका पाया गया और उसके रिश्तेदार उसे एक निजी डॉक्टर के पास ले गए।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस ने जब कभी भी जनमत खोया है, उसके बाद बहुमत के साथ सत्ता में वापसी की है- अजय राय

पुलिस ने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और जांच जारी है। मृतक के परिजनों ने संवाददाताओं को बताया कि उसने बैंक से करीब सात लाख रुपये और एक स्थानीय कर्जदाता से तीन लाख रुपये का कर्ज लिया था।

उन्होंने कहा कि उससे कर्ज चुकाने के लिए कहा जा रहा था, लेकिन वह इसे चुकाने की स्थिति में नहीं था, इसलिए उसने आत्महत्या कर ली। कोतवाली थाना प्रभारी अजय कुमार शर्मा ने कहा कि उन्हें बताया गया था कि वह परेशान था लेकिन किसी ने उन्हें उसके ऋण के बारे में सूचित नहीं किया था।

उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जाएगी। एसडीएम अनुभव सिंह ने कहा कि जांच पूरी होने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़ें: मथुरा में मतदाता जागरुकता माह की शुरुआत





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...