गरीबों तक भोजन पहुंचा रहा था सिपाही, कोविड-19 संक्रमण के संदेह में पृथक किया गया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 24, 2020   11:40
गरीबों तक भोजन पहुंचा रहा था सिपाही, कोविड-19 संक्रमण के संदेह में पृथक किया गया

पीआरवी में तैनात सिपाही के नमूने को जांच के लिए भेजा गया है और उसे मेडिकल कालेज के पृथक वार्ड में भर्ती करा दिया गया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद उसका उचित उपचार किया जाएगा

शाहजहांपुर। लॉकडाउन के दौरान गरीबों तक अनाज और भोजन पहुंचाने में जुटे रहे एक सिपाही को कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आने के संदेह में पृथक कर दिया गया है। राजकीय मेडिकल कालेज की जनसंपर्क अधिकारी डॉ. पूजा त्रिपाठी पांडेय ने शुक्रवार को बताया कि पीआरवी में तैनात सिपाही के नमूने को जांच के लिए भेजा गया है और उसे मेडिकल कालेज के पृथक वार्ड में भर्ती करा दिया गया है। जांच रिपोर्ट आने के बाद उसका उचित उपचार किया जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: लॉकडाउन के चलते कोटा में फंसे बिहार के छात्रों ने शुरू किया भूख हड़ताल, वापसी की लगाई गुहार

पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अपर्णा गौतम ने बताया कि सिपाही बहुत मेहनती है और लॉकडाउन अवधि में उसने गरीबों के यहां भोजन और अनाज के अलावा जरूरत की अन्य चीजें पहुंचाने में काफी मदद की है। अपर्णा ने बताया कि सिपाही की तीन दिन से तबीयत खराब थी, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। न्होंने कहा, मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि इस कोरोना वायरस के दौर में सभी लोगों के साथ-साथ घरों पर खाद्यान्न और जरूरत की अन्य चीजें पहुंचाने में जुटे हमारे पुलिसकर्मी भी संक्रमण मुक्त रहें। आम जनता अपने घरों के भीतर रहकर कोरोना वायरस को हरायें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...