महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार का फॉर्मूल्या तय, शिंदे गुट में बनी सहमति

Maharashtra
creative common
अभिनय आकाश । Jul 29, 2022 2:16PM
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 30 जून को पद की शपथ लेने के बाद अब खबर ये आ रही है कि दो सदस्यों वाले महाराष्ट्र मंत्रिपरिषद का विस्तार जल्द ही हो सकता है।

महाराष्ट्र को नई सरकार बनने के लगभग एक महीने बाद मंत्रिपरिषद के विस्तार को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया अपने अंतिम चरण में पहुंच गई है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 30 जून को पद की शपथ लेने के बाद अब खबर ये आ रही है कि दो सदस्यों वाले महाराष्ट्र मंत्रिपरिषद का विस्तार जल्द ही हो सकता है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मंत्रिपरिषद के गठन को लेकर मंथन का काम पूरा हो चुका है। इसके साथ ही विभागों के बंटवारे को लेकर भी शिंदे गुट के साथ सहमति बन चुकी है। सूत्रों ने बताया कि मंत्री पद और विभागों के बंटवारे को लेकर दोनों दलों के बीच फॉर्मूला तय हो चुका है।

इसे भी पढ़ें: सीबीआई जांच के लिए 221 अनुरोध लंबित, 168 अनुरोधों के साथ महाराष्ट्र शीर्ष पर

दोनों दलों के भीतर मंत्रियों के नामों को लेकर अंदरुनी दिक्कत और खींचतान की बात सामने नहीं आई है। वहीं इस बात की भी चर्चा है कि एकनाथ शिंदे गृह, वित्त और पीडब्ल्यूडी जैसे बड़े विभागों को अपने पाले में रखने के लिए अड़े हुए थे। जबकि इससे इतर राज्य के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस कई दबदबे वाले विभाग को अपने पास रखना चाह रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: OBC Reservation: महाराष्ट्र स्थानीय निकाय चुनाव को लेकर SC का बड़ा आदेश, 367 जगहों पर बिना आरक्षण के ही होंगे चुनाव

महाराष्ट्र में शिवसेना के सियासी संकट के बीच जब शिंदे गुट ने बगावत की उसके बाद से ही सारे खेल के केंद्र बिंदु में देवेंद्र फडणवीस ही नजर आ रहे थे। लेकिन बीजेपी ने चौंकाते हुए एकनाथ शिंदे को सीएम बना दिया और फिर नाटकीय घटनाक्रम के बाद देवेंद्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। अब कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र के कैबिनेट विस्तार में भी चौंकाने वाले फैसले लिए जा सकते हैं। कई नए चेहरों को शिंदे कैबिनेट में जगह मिल सकती है।   

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़