NCR में वायु प्रदुषण का कहर जारी, सबसे प्रदुषित रहा गाजियाबाद

Ghaziabad
राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में गाजियाबाद सबसे प्रदूषित शहर रहा।इसके बाद ग्रेटर नोएडा में 318, राजधानी दिल्ली का सूचकांक 259 और फरीदाबाद में 258 दर्ज किया गया। आंकड़ों में कहा गया है कि इन शहरों के अलावा बागपत में वायु गुणवत्ता सूचकांक 218,बुलंदशहर में 301,गुरुग्राम में 274,आगरा में 203,बल्लभगढ़ में 227,भिवानी में 143 और मेरठ में यह238 दर्ज किया गया।

नोएडा। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में शनिवार को गाजियाबाद सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर रहा जहां का वायु गुणवत्ता सूचकांक 334 दर्ज किया गया। इसके बादग्रेटर नोएडा तथा तीसरे नंबर परदिल्ली रहा। प्रदूषण सूचकांक ऐप समीर के आंकड़ों के अनुसार शनिवार को गाजियाबाद का वायु गुणवत्ता सूचकांक 334दर्ज किया गया।

इसे भी पढ़ें: उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने सांसदों से मातृभाषा को बढ़ावा देने की अपील की

इसके बाद ग्रेटर नोएडा में 318, राजधानी दिल्ली का सूचकांक 259 और फरीदाबाद में 258 दर्ज किया गया। आंकड़ों में कहा गया है कि इन शहरों के अलावा बागपत में वायु गुणवत्ता सूचकांक 218,बुलंदशहर में 301, गुरुग्राम में 274, आगरा में 203,बल्लभगढ़ में 227, भिवानी में 143 और मेरठ में यह238 दर्ज किया गया। इन इलाकों में रहने वाले लोगों ने बताया कि प्रदूषण की वजह से उन्हें सांस लेने में परेशानी और आंखों में जलन हो रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़