टुकड़े-टुकड़े गैंग पर गिरिराज का वार, कहा- अब उनके पास बोलने के लिए नहीं कुछ, जल्द ले लें वैक्सीन

टुकड़े-टुकड़े गैंग पर गिरिराज का वार, कहा- अब उनके पास बोलने के लिए नहीं कुछ, जल्द ले लें वैक्सीन

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह 100 करोड़ वैक्सीनेशन को उत्सव के रूप में मनाते हुए केक भी काटा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब हमारे वैज्ञानिकों ने कोरोना वैक्सीन बनाई, जब इजेक्शन आया तो मोदी और वैज्ञानिकों की तारीफ करनी चाहिए तो ये लोग (टुकड़े टुकड़े गैंग) गालियां दे रहे थे।

भारत आज एतिहासिक मुकाम छू लिया है। देश ने 100 करोड़ कोरोना टीकाकरण के जादूई आंकड़े को पार कर लिया है। इस मौके पर पीएम मोदी ने देशवासियों को कहा कि जल्द से जल्द कोरोना को हराना है। देश में 100 करोड़ कोविड वैक्सीनेशन की उपलब्धि पर स्पाइसजेट एयरलाइंस ने खुशी मनाई। इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया भी मौज़द रहे। इसके साथ ही देश के हर कोने से बधाई के संदेश दिए जा रहे हैं। इसी क्रम में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह 100 करोड़ वैक्सीनेशन को उत्सव के रूप में मनाते हुए केक भी काटा।

इसे भी पढ़ें: सवाल उठाने वाले कांग्रेसी आज कतार में लग कर लगवा रहे वैक्सीन: जयराम ठाकुर

 केंद्रीय मंत्री गिरिराज  सिंह ने पटना में पहुंचे, जहां उन्होंने अलग-अलग टीकाकरण केंद्रों का जायजा लिया और टीका लेने पहुंचे लोगों से बातचीत की। इसी दौरान उन्होंने वैक्सीन पर सवाल उठाने वालों को निशाने पर भी लिया। गिरिराज सिंह ने कहा कि भारत ने ऐतिहासिक मुकाम हासिल किया है। जिस तेजी के साथ टीकाकरण हो रहा है और हमारे स्वास्थ्य कर्मी लगे हुए हैं इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि कितना जल्द सभी देशवासियों को टीका लग जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब हमारे वैज्ञानिकों ने कोरोना वैक्सीन बनाई, जब इजेक्शन आया तो मोदी और वैज्ञानिकों की तारीफ करनी चाहिए तो ये लोग (टुकड़े टुकड़े गैंग) गालियां दे रहे थे और बोल रहे थे कि हम वैक्सीन नहीं लेंगे ये बीजेपी की वैक्सीन है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...