सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, नए वेतनमान का हुआ ऐलान

सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, नए वेतनमान का हुआ ऐलान

सीएम जयराम ठाकुर की तरफ से जानकारी दी गई है कि राज्य सरकार अपने कुल बजट का लगभ 43% कर्मचारियों और पेंशनभोगियों पर खर्च कर रही है। छठा वेतन लागू होने के बाद ये बढ़कर 50 प्रतिशत हो जाएगा।

नया साल सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशियां लेकर आया। केंद्र सरकार की तरफ से पहले तो कई सारे फायदे मिलने के बाद अब राज्य की सरकार भी उनकी वेतन में बढ़ोतरी कर रही है। हिमाचल प्रदेश सरकार ने छठे वेतन आयोग के तहत नए वेतनमान का ऐलान किया है। शिमला में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में प्रदेश के करीब दो लाख सरकारी कर्मचारियों को बड़ी सौगात देने का फैसला लिया गया। सरकारी कर्मचारियों को 1 जनवरी 2016 से नए वेतनमान का फायदा मिलेगा। 

इसे भी पढ़ें: दी सीडी साख सहकारी सभा सीमित गोहर को बैंक में बदलने के लिए राज्य सरकार करेगी हर संभव प्रयासः मुख्यमंत्री

इसके साथ ही राज्य सरकार की तरफ से अनुबंध पर काम करने वाले कर्मचारियों के लिए भी दो साल में नियमित करने का ऐलान किया गया। बता दें कि इससे पहले तक अनुंबंधित कर्मचारियों को तीन साल में नियमित किया जाता रहा है। राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश गैर राजपत्रित महासंघ की संयुक्त समन्वय समिति को संबोधित करने हुए ये घोषणाएं की हैं। 

इसे भी पढ़ें: मनाली से कार्निवल परेड को हरी झंडी दिखाकर राष्ट्र स्तरीय पांच दिवसीय विंटर कार्निवल का शुभारम्भ किया

सीएम जयराम ठाकुर की तरफ से जानकारी दी गई है कि राज्य सरकार अपने कुल बजट का लगभ 43% कर्मचारियों और पेंशनभोगियों पर खर्च कर रही है। छठा वेतन लागू होने के बाद ये बढ़कर 50 प्रतिशत हो जाएगा। गौरतलब है कि पंजाब में छठे वेतन आयोग की सिफारिशें लागू हो चुकी हैं। हिमाचल प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों के वेतन पर हर महीने 1050 करोड़ रुपये खर्च करती है। वहीं पेंशनभोगियों को पेंशन देने के लिए 590 करोड़ रुपये की जरूरत होती है।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...