• गोरखपुर नगर निगम का शुरू हुआ वृहद सेनेटाईजेशन एवं फागिंग महाअभियान

सम्पूर्ण महानगर को फिर सेनेटाईज करने के उद्देश्य सें 35 सेनेटाईजेशन मशीनों युक्त वाहनोें तथा महानगर को मच्छरों सें मुक्त कराने के उपायों का प्रयोग प्रारम्भ करते हुए विसंक्रमण के वाहनों को महापौर सीताराम, जयसवाल, उपसभापति ऋषि मोहन वर्मा, नगर आयुक्त अविनाश सिंह, अपर नगर आयुक्त राधेश्याम सिंह नें हरी झण्डी दिखा कर रवाना किया।

गोरखपुर। महानगर में डेगू और कोरोना की दस्तक होने के पूर्व नगर निगम ने  सम्पूर्ण महानगर के 70 वार्डो में बीमारियों के फैलनें की आशंका के दृष्टिगत, अपने कार्यक्रमों को व्यवस्थित करते हुए सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश में प्रथमतः नगर निगम गोरखपुर नें विधिवत सेनेटाईजेशन और फागिंग का महाअभियान प्रारम्भ किया। कोरोना की दूसरी लहर में जिस प्रकार पूरे महानगर में गली-गली और घर-घर में सेनेटाईजेशन का कार्य कर महानगर को कोरोनामुक्त किया गया था।

 

ठीक उसी तर्ज पर एक बार फिर नगर निगम गोरखपुर नें कमर कस ली है, और सम्पूर्ण महानगर को फिर सेनेटाईज करने के उद्देश्य सें 35 सेनेटाईजेशन मशीनों युक्त वाहनोें तथा महानगर को मच्छरों सें मुक्त कराने के उपायों का प्रयोग प्रारम्भ करते हुए विसंक्रमण के वाहनों को  महापौर  सीताराम, जयसवाल, उपसभापति  ऋषि मोहन वर्मा, नगर आयुक्त अविनाश सिंह, अपर नगर आयुक्त  राधेश्याम सिंह नें हरी झण्डी दिखा कर रवाना किया। नगर निगम गोरखपुर, महानगरवासियों को किसी भी प्रकार की मच्छरजनित, जलजनित एवं संक्रमण सें होने वाले बीमारियों सें बचाने के लिये कटिबद्व है।  नगर निगम गोरखपुर, फागिंग, डस्टिंग, एंटीलार्वा का छिडकाव कर नगर को मच्छर मुक्त किये जाने हेतु प्रयत्नशील है।

 

इसके साथ ही नगर में जलाशयों आदि जहा मच्छरों के लार्वा पनपते रहते हैं, के समूल नाश करने के लिए गमबूजिया मछलियों को भी डाला जा रहा है। नगर निगम विविध उपायों सें महानगरवासियों को स्वस्थ रखनें के प्रयास कर रहा है। महापौर ने महानगरवासियों सें अपील करते हुते कहा कि महानगर वासी स्वयं भी सफाई आदि का ध्यान रखें, कहीं भी पानी आदि इक्ट्ठा न होने दें, जिससें लार्वा न उत्पन्न हों, और साथ ही कोरोना सें बचाव के लिए सभी आवश्यक उपाय जैसें मास्क, सोशल डिस्टेशिंग, सेनेटाईजेशन, बार-बार हाथों को धुलनें की प्रक्रिया को अपनाते रहें। इस महाअभियान कार्यक्रम में उपनगर आयुक्त  संजय शुक्ला, सहायक नगर आयुक्त डा0 मणिभूषण तिवारी, सहायक नगर आयुक्त  अविनाश प्रताप सिंह, महाप्रबन्धक जलकल  सत्य प्रकाश श्रीवास्तव सहित नगर निगम के अन्य अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहे।