सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारियां शुरू कर दीं है: योगी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 17, 2021   14:03
  • Like
सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारियां शुरू कर दीं है: योगी

आदित्यनाथ ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की सूचना के बाद जांच प्रक्रिया तेज की गई है और गांव गांव में कोविड-19 जांच शिविर लगाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि घर में पृथक होकर उपचार करा रहे लोगों को चिकित्सा किट उपलब्ध कराई जा रही है तथा उनसे लगातार संपर्क करके उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली जा रही है।

नोएडा/मेरठ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में कमी आई है और सरकार ने इस महामारी की तीसरी लहर से निपटने के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ‘ब्लैक फंगस’ को लेकर काफी गंभीर है तथा इसके उपचार के लिए एक विशेष योजना बनाई गई है। गौतमबुद्धनगर पहुंचे आदित्यनाथ ने यहां एक प्रेस वार्ता में कहा कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बाद आशंका व्यक्त की जा रही है कि इस महामारी की तीसरी लहर आनी है। उन्होंने कहा कि बच्चों तथा महिलाओं को इस संक्रमण से ज्यादा खतरा बताया जा रहा और इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के सभी जिलों में महिलाओं तथा बच्चों के लिए समर्पित अस्पताल तैयार किये जा रहे हैं और 102 नम्बर की 2200 एम्बुलेंस को महिलाओं तथा बच्चों के उपचार के लिए समर्पित किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘ब्लैक फंगस’ संक्रमण को लेकर प्रदेश सरकार ने जागरूकता अभियान शुरू कर दिया है और इसके उपचार की पूरी तैयारी की गई है। उन्होंने बताया कि लोगों को बताया जा रहा है कि यह बीमारी ज्यादा स्टेरॉयड लेने से तथा मधुमेह का स्तर ज्यादा होने से होती है। मुख्यमंत्री कहा कि ‘ब्लैक फंगस’ के मामले भी सामने आ रहे हैं, ऐसे में गांव में भी निगरानी समिति काम कर रही है तथा एक समूह ‘ब्लैक फंगस’ को लेकर बनाया गया है।

आदित्यनाथ ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की सूचना के बाद जांच प्रक्रिया तेज की गई है और गांव गांव में कोविड-19 जांच शिविर लगाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि घर में पृथक होकर उपचार करा रहे लोगों को चिकित्सा किट उपलब्ध कराई जा रही है तथा उनसे लगातार संपर्क करके उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली जा रही है। आदित्यनाथ ने कहा कि गौतमबुद्ध नगर में ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाले तीन संयंत्र लगाए जा रहे हैं, जिससे भविष्य में गौतमबुद्ध नगर ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर हो जाएगा। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमण मुक्त होने की दर लगातार बढ़ रही है तथा संक्रमण दर में निरंतर गिरावट दर्ज हो रही है जो अप्रैल में 16.33 प्रतिशत से घटकर अब 4.8 फीसदी पर आ गई है। आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश कोरोना वायरस की सर्वाधिक जांच करने वाला राज्य बन गया है जहां प्रतिदिन औसतन 2.5 लाख नमूनों की जांच की जा रही है। मुख्यमंत्री के मुताबिक, प्रदेश में अब तक तीन करोड़ लोगों को कोविड रोधी टीका मुफ्त लगाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 1,080 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है तथा सभी जिलों में 72 घंटे से अधिक की रिजर्व ऑक्सीजन उपलब्ध है। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि ऑक्सीजन के सुचारू परिवहन के लिए क्रायोजेनिक टैंकर की व्यवस्था के लिए वैश्विक टेंडर जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में रहने वाले गरीब लोगों को तीन माह तक हर महीने प्रत्येक सदस्य तीन किलोग्राम गेहूं तथा दो किलोग्राम चावल निशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र में दैनिक रूप से कार्य कर अपना जीविकोपार्जन करने वाले ठेला, खोमचा, रेहड़ी, खोखा, आदि लगाने वाले पटरी दुकानदारों, दिहाड़ी मजदूरों, रिक्शा चालक, पल्लेदार, नाविक,नाई, धोबी, मोची, हलवाई आदि को प्रतिमाह 1,000 रुपये का भरण-पोषण भत्ता प्रदान किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने नोएडा में एनटीपीसी सभागार में अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ रविवार को बैठक करते हुए कहा कि ऐसा संज्ञान में आ रहा कि कुछ एक निजी अस्पताल एवं निजी प्रयोगशालाएं महामारी के इस दौर में लूट के केंद्र बन चुके हैं और ऐसे अस्पतालों और प्रयोगशालाओं की जांच कर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। 

इसे भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ ने किया गौतम बुद्ध नगर का दौरा, टीकाकरण मुहिम का किया निरीक्षण

मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान निर्देश दिया किजिले में निरूद्ध क्षेत्रों में सख्ती बरती जाए तथा कर्फ्यू को सख्ती से लागू किया जाए। मुख्यमंत्री ने सेक्टर 6 में मीडिया कर्मियों के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण केंद्र का दौरा भी किया। उन्होंने सेक्टर 45 में बने कोरोना वायरस केयर सेंटर में भर्ती मरीजों से वहां जाकर बातचीत की तथा सुविधाओं की गहनता से पड़ताल की। मुख्यमंत्री ने ग्राम छपरौली में सुरेश चौहान के बेटे सेमुलाकात की।वह कोरोना संक्रमित होने के बाद घर में पृथकवास में हैं। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई दवाई व सुविधाओं के संबंध में उनसे जानकारी ली। नोएडा के बाद मेरठ पहुंचे मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं से बातचीत करते हुए मेरठ मंडल में 35 नए ऑक्सीजन संयंत्र लगाये जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्रीके दौरे के दौरान पुलिस को चकमा देते हुए भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता ‘मुख्यमंत्री योगी मुर्दाबाद’ के नारे लगाने लगे, जिसके बाद पुलिस ने भाकियू कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेकर पुलिस लाइन पहुंचा दिया। आयुक्तालय पर मुख्यमंत्री से मिलने की मांग कर रहे कांग्रेसियों को भी उनसे मिलने की अनुमति नहीं मिली और एसडीएम-सीओ ने कांग्रेसियों का ज्ञापन लेकर उन्हें मेरठ कॉलेज से लौटा दिया। मुख्यमंत्री खरखौदा के बिजौली गांव में पहुंचे जहां सीएम योगी ने कोरोना संक्रमित व्यक्ति के घर पहुंचकर उससे बात की। इसके बाद मुख्यमंत्री गांव के पीएचसी पहुंचे जहां उन्होंने आशा कार्यकर्ताओं से कोरोना संक्रमण की व्यवस्थाओं के बारे में बात की। आदित्यनाथसोमवार को सहारनपुर जाएंगे और वहां पर कोरोना वायरस की स्थिति का जाजया लेंगे। मुख्यमंत्री के सहारनपुर आगमन पर भीम आर्मी ने ट्वीट कर उन्हें काले झण्डे दिखाने का ऐलान किया है। भीम आर्मी के इस ट्वीट के बाद पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी इस ऐलान को लेकर सतर्क हो गये है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept