पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा बोले- मेरे नाम पर हवाईअड्डे का नाम रखने के फैसले पर पुनर्विचार करें सरकार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2022   12:22
पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा बोले- मेरे नाम पर हवाईअड्डे का नाम रखने के फैसले पर पुनर्विचार करें सरकार
Google common license

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि सरकार मेरे नाम पर हवाईअड्डे का नाम रखने के फैसले पर पुनर्विचार करें। हवाई अड्डे का नाम राज्य के भाजपा नेता के नाम पर रखने के सरकार के फैसले का कुछ विरोध हुआ था।

बेंगलुरु।भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता बी एस येदियुरप्पा ने कर्नाटक सरकार से अनुरोध किया कि वह शिवमोगा में बन रहे हवाईअड्डे का नाम राज्य के किसी प्रख्यात व्यक्ति पर रखने पर विचार करे। प्रदेश सरकार ने हाल ही में हवाईअड्डे का नाम येदियुरप्पा के नाम पर रखने का फैसला किया था। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने 20 अप्रैल को शिवमोगा के सोगने में हवाई अड्डे के निमार्ण कार्य का निरीक्षण करने के बाद घोषणा की थी कि इसका नाम पूर्व मुख्यमंत्री के नाम पर रखा जाएगा, और इस संबंध में भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय को एक प्रस्ताव भेजा जाएगा।

इसे भी पढ़ें: डोभाल की मेजबानी, 40 देशों की जासूसी एजेंसी के प्रमुख की खुफिया बैठक, एजेंडे में चीन!

येदियुरप्पा ने इस संबंध में 24 अप्रैल को बोम्मई को पत्र लिखा है। येदियुरप्पा ने एक ट्वीट में कहा, “मैं मुख्यमंत्री बोम्मई के शिवमोगा हवाई अड्डे का नाम मेरे नाम पर रखने के फैसले से अभिभूत हूं। मैं पूरी विनम्रता के साथ सरकार से अनुरोध करता हूं कि कर्नाटक के किसी भी प्रख्यात व्यक्तित्व के नाम पर हवाईअड्डे का नाम रखा जाए, जो उनके योगदान के लिए एक उचित श्रद्धांजलि होगी।” हवाई अड्डे का नाम राज्य के भाजपा नेता के नाम पर रखने के सरकार के फैसले का कुछ विरोध हुआ था, जिसमें विपक्षी नेताओं सहित कुछ लोगों ने इशारा किया था कि जिले की कई प्रमुख हस्तियां सम्मान की पात्र हैं। शिवमोगा येदियुरप्पा का राजनीतिक गढ़ है, वह जिले के शिकारीपुरा विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं जबकि उनके बड़े बेटे बी वाई राघवेंद्र शिवमोगा संसदीय क्षेत्र से सांसद हैं।

इसे भी पढ़ें: भारत ने चीन के नागरिकों का पर्यटक वीजा किया निलंबित, भारतीय छात्रों को लौटने की अनुमति नहीं दे रहा था ड्रैगन

येदियुरप्पा ने अपने पत्र में हवाईअड्डे के काम को तेजी से पूरा करने के लिए तुरंत धन जारी करने के आश्वासन के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। उनके नाम पर हवाईअड्डे का नाम रखने के लिये येदियुरप्पा ने उन्हें और अन्य नेताओं के प्रति आभार व्यक्त करते हुए अपने पत्र में कहा कि कई देशभक्त और दूरदर्शी थे जिन्होंने देश के विकास में योगदान दिया है और उनकी तुलना में उनका योगदान बहुत कम है। उन्होंने कहा, “मैं केवल उन लोगों की सेवा करने में सक्षम होने के लिए कृतज्ञता की भावना से भर गया हूं जिन्होंने मुझे लगातार समर्थन और आशीर्वाद दिया है। इसलिए मेरा विचार है कि मेरे नाम पर नए हवाई अड्डे का नामकरण उचित नहीं है। इसलिए कृपया निर्णय पर पुनर्विचार करें और सही मंच पर इस पर चर्चा करने के बाद, मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि हवाई अड्डे का नाम किसी भी ऐसे महान व्यक्ति के नाम पर रखा जाए, जिसने देश, राज्य और इतिहास के विकास में योगदान दिया हो।” अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं वाले इस हवाई अड्डे का उद्घाटन इस साल दिसंबर में होने की उम्मीद है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।