कुंभ मेले की दिव्यता और भव्यता के लिए हरिद्वार में किये गये हैं खास इंतजाम

mahakumbh 2021
हरिद्वार कुंभ मेले में चमचमाते नये घाटों के साथ ही स्नानार्थियों की सुविधा के लिए विशाल पार्किंग स्थल भी बनाये गये हैं। हरिद्वार में सजे घाट और बाजार अद्भुत दृश्य पैदा कर रहे हैं और पूरा वातावरण भक्तिमय नजर आ रहा है। यहां हिंदी वाली बाइट लग जायेगी।

कुंभ के लिए हरिद्वार तैयार हो चुका है और बड़ी संख्या में श्रद्धालु भी यहाँ पहुँचने लगे हैं। गंगा के घाटों की सफाई की बात हो या फिर गंगा के साफ-स्वच्छ जल की बात हो, श्रद्धालु यहाँ की व्यवस्था देखकर बहुत प्रसन्न हैं। तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा ने विशेष व्यवस्था की है और घाटों के सौंदर्यीकरण के साथ ही वहां पर व्यापक सुविधाएं सुनिश्चित की गयी हैं। शारीरिक रूप से अक्षम तीर्थयात्री भी आसानी से घाट तक पहुँच सकें इसके लिए एलिवेटेड इलेक्ट्रॉनिक कुर्सियां लगाई गई हैं। यही नहीं विशाल चमचमाते नये घाटों का भी निर्माण किया गया है ताकि ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालु आसानी से गंगा स्नान कर सकें। स्नानार्थियों की सुविधा के लिए विशाल पार्किंग स्थल भी बनाये गये हैं। हरिद्वार में सजे घाट और बाजार अद्भुत दृश्य पैदा कर रहे हैं और पूरा वातावरण भक्तिमय नजर आ रहा है। यहां हिंदी वाली बाइट लग जायेगी।

इसे भी पढ़ें: कुंभ समाप्त होने तक गढ़वाल आयुक्त ही संभालेंगे मेला क्षेत्र में ही कमान

कोरोना पर सतर्क किया

इस बीच कुंभ मेले के दौरान कोविड-19 के मामलों में वृद्धि होने की आशंका के मद्देनजर केंद्र सरकार ने उत्तराखंड सरकार को पत्र लिखा है जिसमें महामारी को फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठाने की जरूरत को रेखांकित करने वाले एक उच्च स्तरीय केंद्रीय दल की चिंताओं का उल्लेख किया गया है। उत्तराखंड के मुख्य सचिव को लिखे पत्र में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि पिछले कुछ सप्ताह में भारत में 12 से अधिक राज्यों में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि आई है और हरिद्वार कुंभ मेले में इन राज्यों से भी तीर्थयात्री आ सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, “कुंभ मेले के दौरान पवित्र शाही स्नान के बाद स्थानीय लोगों में संक्रमण के मामले बढ़ने की आशंका है, इसलिए अत्यधिक सतर्कता बरती जानी चाहिए।” 

इसे भी पढ़ें: Kumbh Mela 2021: फर्राटेदार इंग्लिश बोलते हैं निरंजनी अखाड़े के संन्यासी!

साइकिल से चलेगी पुलिस

इस बीच, उत्तराखंड में कुंभ मेला पुलिस भीड़भाड़ वाली जगहों और संकरी गलियों तक शीघ्र पहुंचने के लिये अब जीप छोड़कर साइकिल का प्रयोग करेगी। इसके लिए कुंभ मेला पुलिस ने 23 साइकिलें खरीदी हैं और 100 अन्य साइकिलें उन्हें उद्योगों द्वारा दी जा रही हैं। इनका उपयोग आगामी शाही स्नान पर्वों के दौरान पुलिस के जवानों द्वारा भीड़भाड़ और संकरी गलियों में सुगम आवागमन के लिए किया जाएगा। दरअसल कुंभ स्नानों के दौरान आवश्यकता पड़ने पर हर की पैड़ी और आस-पास के क्षेत्र में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के चलते संकरी गलियों और रास्तों में आने जाने में पुलिस को बेहद दिक्कत का सामना करना पड़ता है और इन्हीं समस्याओं को देखते हुए साइकिल के उपयोग का निर्णय लिया गया। बहरहाल, यदि आप भी कुंभ मेला आ रहे हैं तो कृपया कोरोना संबंधी गाइडलाइन्स का पालन करें।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़