प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से पहले ही हेमंत सोरेन ने ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अक्टूबर 7, 2021   09:10
प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से पहले ही हेमंत सोरेन ने ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन किया

नरेंद्र मोदी के पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बृहस्पतिवार को पूरे देश में एक साथ ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्रों का उद्घाटन होना था, लेकिन इससे एक दिन पहले बुधवार को ही यहां मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सदर अस्पताल रांची में नवअधिष्ठापित 100 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन कर दिया।

रांची। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बृहस्पतिवार को पूरे देश में एक साथ ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्रों का उद्घाटन होना था, लेकिन इससे एक दिन पहले बुधवार को ही यहां मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सदर अस्पताल रांची में नवअधिष्ठापित 100 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले ‘पीएसए’ ऑक्सीजन संयंत्र का उद्घाटन कर दिया।

इसे भी पढ़ें: Pakistan Earthquake: दक्षिणी पाकिस्तान में भूकंप के तेज झटके, 20 की मौत, 200 से ज्यादा बुरी तरह घायल

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनके मंत्रिमंडल सहयोगी बन्ना गुप्ता ने बुधवार को यहां सदर अस्पताल रांची में नवअधिष्ठापित 100 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले ‘पीएसए ऑक्सीजन प्लांट’ का उद्घाटन किया, साथ ही ‘पीएम केयर्स फंड’ से पूरे राज्य में नवनिर्मित ‘प्रेशर स्विंग अब्जॉर्प्शन’ (पीएसए संयंत्रों) का उद्घाटन भी बुधवार को ही विभिन्न जिलों के उपायुक्तों ने स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के साथ ऑनलाइन एक कार्यक्रम में कर दिया।

इसे भी पढ़ें: MP उपचुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की प्रत्याशियों के नाम सूची

प्रधानमंत्री बृहस्पतिवार को देश के 35 राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में कुल 35 ‘पीएसए’ संयंत्रों का एम्स उत्तराखंड से ऑनलाइन एक कार्यक्रम में उद्घाटन करेंगे, लेकिन यहां मुख्यमंत्री तथा स्वास्थ्य मंत्री ने एक दिन पहले इनका उद्घाटन करके एक बड़े विवाद को जन्म दे दिया है। मुख्य विपक्षी दल भाजपा के नेता आदित्य साहू ने कहा कि राज्य के सत्ता पक्ष के ये कारनामे उनकी नीति और नियत को फिर से उजागर करते हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।