श्रीनगर में सुरक्षा पर हाई लेवल बैठक, अमित शाह ने आतंकवाद का खात्मा करने का दिया मैसेज

श्रीनगर में सुरक्षा पर हाई लेवल बैठक, अमित शाह ने आतंकवाद का खात्मा करने का दिया मैसेज

चार घंटे तक चली बैठक में अमित शाह ने सुरक्षाबलों से आतंकवाद को खत्म करने के लिए कहा है। आतंकवादियों द्वारा नागरिकों की हत्याओं के बाद जम्मू-कश्मीर में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की 50 अतिरिक्त कंपनियां तैनात की जा रही हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू-कश्मीर के तीन दिवसीय दौरे पर शनिवार को श्रीनगर पहुंचे। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद केंद्र शासित प्रदेश की यह उनकी पहली यात्रा है। उन्होंने श्रीनगर में सुरक्षा को लेकर हाई लेवल मीटिंग की, जिसमें सुरक्षा से जुड़े कई अहम अधिकारियों की मौजूदगी रही। चार घंटे तक चली बैठक में अमित शाह ने सुरक्षाबलों से आतंकवाद को खत्म करने के लिए कहा है। आतंकवादियों द्वारा नागरिकों की हत्याओं के बाद जम्मू-कश्मीर में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की 50 अतिरिक्त कंपनियां तैनात की जा रही हैं। तैनात किए जा रहे अतिरिक्त कर्मियों का इस्तेमाल मुख्य रूप से घाटी के शहरों और घनी आबादी वाले शहरों में सुरक्षा कड़ी करने के लिए किया जाएगा।

युवाओं से मिलकर बहुत आनंद का अनुभव हो रहा

इसके साथ ही गृहमंत्री अमित शाह ने श्रीनगर में यूथ क्लबों को संबोधित करते हुए कहा कि कश्मीर में युवाओं को मौका मिले इसलिए अच्छा डिलिमिटेशन भी होगा, डिलिमिटेशन के बाद चुनाव भी होगा और फिर से स्टेटहुड का स्टेटस भी वापिस मिलेगा। कश्मीर में युवाओं को मौका मिले इसलिए अच्छा डिलिमिटेशन भी होगा, डिलिमिटेशन के बाद चुनाव भी होगा और फिर से स्टेटहुड का स्टेटस भी वापिस मिलेगा। कश्मीर को भारत सरकार से मदद आती है, आनी भी चाहिए, बहुत सहा है कश्मीर ने। परन्तु एक दिन ऐसा ज़रूर आएगा जब कश्मीर भारत के विकास के लिए योगदान करेगा। लेने वाला नहीं, भारत को देना वाला प्रदेश बनेगा। उन्होंने कहा कि सवा दो साल के बाद मैं जम्मू-कश्मीर आया हूं और सुरक्षा समीक्षा बैठक के बाद मेरा पहला कार्यक्रम यूथ क्लब के युवा साथियों के साथ हो रहा है, मैं जम्मू-कश्मीर के युवाओं से मिलकर बहुत बहुत आनंद और सुकून का अनुभव करता हूं।  

शहीद जवान के पररिवार से की मुलाकात

अपने दौरे के दौरान नौगाम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इंस्पेक्टर परवेज़ अहमद जिनकी आतंकियों द्वारा हत्या कर दी गई थी उनके घर जाकर परिज़नों से मुलाक़ात की। इस दौरान शाह ने डार की पत्नी फातिमा अख्तर को सरकारी नौकरी देने का वादा किया। अमित शाह ने शहीद इंस्पेक्टर परवेज अहमद के परिजनों से कहा कि मुझे व पूरे देश को उनकी बहादुरी पर गर्व है।हम हमेशा जम्मू कश्मीर पुलिस और परवेज अहमद डार के सर्वोच्च बलिदान को याद रखेंगे। अमित शाह ने कहा कि मोदी जी ने जो नए जम्मू कश्मीर की कल्पना की है, उसको साकार करने के लिए J&K पुलिस पूरी तन्मयता से प्रयासरत है।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।