आतंक के वित्त पोषण के मामले में सलाउद्दीन का बेटा गिरफ्तार

Hizb chief Syed Salahuddin son arrested in terror funding case
राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने वैश्विक तौर पर वांछित आतंकवादी सैयद सलाउद्दीन के बेटे सैयद शाहिद यूसुफ को 2011 के आतंकी वित्त पोषण से जुड़े एक मामले में आज गिरफ्तार कर लिया।

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने वैश्विक तौर पर वांछित आतंकवादी सैयद सलाउद्दीन के बेटे सैयद शाहिद यूसुफ को 2011 के आतंकी वित्त पोषण से जुड़े एक मामले में आज गिरफ्तार कर लिया। शाहिद पर कथित तौर पर अपने पिता से रूपये लेने का आरोप है। एनआईए के एक प्रवक्ता ने बताया कि 42 वर्षीय शाहिद फिलहाल जम्मू कश्मीर सरकार के कृषि विभाग में कार्यरत है। उसे आज पूछताछ के लिये एनआईए मुख्यालय में बुलाया गया था और बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया। एनआईए ने आरोप लगाया कि शाहिद को ‘अंतरराष्ट्रीय धन स्थानांतरण माध्यमों ’ के जरिये एजाज अहमद भट से रकम प्राप्त हुई।

एजाज भगोड़ा आरोपी है और अभी सऊदी अरब में रह रहा है। जांच एजेंसी ने आरोप लगाया कि शाहिद ‘‘भट के कई भारतीय संपर्कों में से एक है’’ जो धन स्थानांतरण कोड्स के जरिये रकम हासिल करने के लिये टेलीफोन पर उसके संपर्क में रहता था। एनआईए द्वारा अप्रैल 2011 में दर्ज किया गया मामला दिल्ली के रास्ते हवाला के जरिये पाकिस्तान से जम्मू कश्मीर में रकम के स्थानांतरण से जुड़ा है। इस रकम के आतंकी वित्त पोषण और अलगाववादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिये इस्तेमाल होने का शक था।एनआईए अब तक इस मामले में दो आरोप पत्र दायर कर चुकी है। इनमें पाकिस्तान समर्थक अलगाववादी सैयद अली शाह गिलानी के निकट सहयोगी जी एम भट, मोहम्मद सिद्दीक गनई, गुलाम जीलानी लीलू और फारूक अहमद डागा शामिल हैं।

यह चारों आरोपी न्यायिक हिरासत में हैं। इनके अलावा एनआईए ने मोहम्मद मकबूल पंडित और ऐजाज अहमद भट का नाम भी आरोप पत्र में शामिल किया है लेकिन ये दोनों अभी फरार हैं। दोनों के खिलाफ इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस जारी किये गये हैं। सैयद सलाउद्दीन के नाम से कुख्यात शाहिद के पिता मोहम्मद यूसुफ शाह को इस साल जून में अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा विशेष रूप से वैश्विक आतंकी घोषित किया है। आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन का प्रमुख होने के अलावा वह युनाइटेड जेहाद काउंसिल (यूजेसी) का अध्यक्ष भी है। यूजेसी कश्मीर में सक्रिय विभिन्न आतंकी संगठनों का गठजोड़ है।

एनआईए ने आतंकी वित्त पोषण से जुड़े दो और मामले भी दर्ज किये हैं। इनमें से एक मामला नवंबर 2011 में दर्ज किया गया था तो दूसरा इस साल मई में दर्ज किया गया था। जांच एजेंसी ने 2011 के दूसरे मामले में सैयद सलाउद्दीन समेत 10 लोगों के खिलाफ पहले ही आरोप पत्र दायर कर रखा है। हालिया मामले में एनआईए ने गिलानी के कुछ करीबी रिश्तेदारों और सहयोगियों समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़