अरुणाचल में IAF का Mi-17 हेलीकॉप्टर हुआ दुर्घटनाग्रस्त, सभी लोग सुरक्षित

अरुणाचल में IAF का Mi-17 हेलीकॉप्टर हुआ दुर्घटनाग्रस्त, सभी लोग सुरक्षित

एमआई-17 हेलीकॉप्टर अरुणाचल प्रदेश में 2 पायलटों और 3 चालक दल के सदस्यों के साथ दुर्घटनाग्रस्त हो गया। सभी सुरक्षित हैं। जब यह घटना हुई तब हेलीकॉप्टर हवाई रखरखाव के लिए उड़ान भर रहा था।

ईटानगर। भारतीय वायुसेना का एमआई-17 हेलीकॉप्टर गुरुवार को अरुणाचल प्रदेश में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इसमें 2 पायलट और चालक दल के 3 सदस्य मौजूद थे। हालांकि सभी के सुरक्षित होने की जानकारी प्राप्त हो रही है। हेलीकॉप्टर क्रैश क्यों हुआ ? अभी इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। 

इसे भी पढ़ें: पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की एयर-स्ट्रिप पर वायुसेना की गर्जना, विमानों ने दिखाए करतब 

समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी कि एमआई-17 हेलीकॉप्टर अरुणाचल प्रदेश में 2 पायलटों और 3 चालक दल के सदस्यों के साथ दुर्घटनाग्रस्त हो गया। सभी सुरक्षित हैं। जब यह घटना हुई तब हेलीकॉप्टर हवाई रखरखाव के लिए उड़ान भर रहा था। घटना के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए जाएंगे।

इससे पहले अक्टूबर माह में मध्य प्रदेश के भिंड जिले में वायुसेना का एक विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसकी जानकारी खुद भारतीय वायुसेना ने दी थी। उन्होंने ट्वीट किया था, ‘‘भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 विमान में आज सुबह सेंट्रल सेक्टर में प्रशिक्षण उड़ान के दौरान तकनीकी खराबी आ गई। पायलट सुरक्षित बाहर निकल आया है। दुर्घटना के कारण का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दिए गए हैं।’’ 

इसे भी पढ़ें: तेजी से अपनी सैन्य ताकत बढ़ाने में जुटा ड्रैगन, 2049 तक खुद को बनाना चाहता है वर्ल्ड क्लास 

वहीं, सितंबर में जम्मू-कश्मीर के उधमपुर जिले के शिवगढ़ धार इलाके की एक पहाड़ी पर सेना का एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। जिसमें दो पायलटों की मौत हो गई थी। अगस्त में भी दो पायलटों ने अपनी जान गंवाई थी। तब पठानकोट के पास रंजीत सागर बांध झील में सेना का एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।