प्रवासी भारतीय दिवस पर बोलीं सुषमा स्वराज, भारत हो रहा है युवा

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 21 2019 6:32PM
प्रवासी भारतीय दिवस पर बोलीं सुषमा स्वराज, भारत हो रहा है युवा
Image Source: Google

युवा प्रवासी भारतीय दिवस में अपने उद्घाटन संबोधन में स्वराज ने कहा कि भारतवंशियों ने भारतीयों और हमारे देश के बारे में दुनिया की धारणा को नाटकीय ढ़ंग से बदल दिया है।

वाराणसी। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सोमवार को कहा कि अमेरिका, जापान और चीन जैसे देशों में बुजुर्गों की संख्या बढने के लिहाज से ये देश बूढे होते जा रहे हैं जबकि भारत में युवाओं की संख्या बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि इस जनसांख्यिकीय दृष्टिणकोण के चलते भारत को ‘‘अभूतपूर्व बढ़त’’ मिली है जो 2022 तक इसे ‘‘नूतन युवा भारत’’ बनाने में मदद करेगा। 

भाजपा को जिताए

युवा प्रवासी भारतीय दिवस में अपने उद्घाटन संबोधन में स्वराज ने कहा कि भारतवंशियों ने भारतीयों और हमारे देश के बारे में दुनिया की धारणा को नाटकीय ढ़ंग से बदल दिया है। स्वराज ने कहा कि विश्व में भारत के सबसे अधिक प्रवासी लगभग 3.1 करोड़ हैं, जो पूरे विश्व में फैले हुए है। हालांकि आप सभी की साझा पहचान-भारतीयता है और आप लोगों का मूल स्थान भी एक भारत ही है, जो आपके पूर्वजों की भूमि है।

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी में प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का करेंगे उद्घाटन

युवा प्रवासी भारतीय दिवस 15वें प्रवासी भारतीय दिवस की शुरूआत है और इसमें स्वराज, खेल एवं युवा मामलों के राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और विदेश राज्य मंत्री वी के सिंह समेत कई लोग मौजूद थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को यहां 15 वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का औपचारिक रूप से उद्घाटन करेंगे। मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे।





स्वराज ने कहा कि प्रत्येक भारतीय प्रवासी की सफलता उनकी अपराजित भावना, समर्पण और कठिनाइयों का सामना करने के लिए धैर्य का प्रमाण है। उन्होंने कहा, ‘भारतीय प्रवासी लोगों ने सदियों पहले पलायन करना शुरू कर दिया था, यह शिक्षित, उच्च कुशल और प्रगतिशील युवा भारतीयों का पलायन था, जिसने भारत को ख्याति दिलाई।’ उन्होंने कहा कि कई बहुराष्ट्रीय संस्थानों का नेतृत्व भारतीय मूल के युवा कर रहे है जिनमें गूगल के सुंदर पिचाई और माइक्रोसॉफ्ट के सत्य नडेला शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: सुषमा और योगी ने किया प्रवासी भारतीय सम्मेलन का शुभारंभ

स्वराज ने कहा कि 2020 तक भारत में औसत आयु 29 होगी, कामकाजी आयु वर्ग में 64 फीसदी आबादी के साथ यह दुनिया का सबसे युवा देश है। उन्होंने कहा, ‘अमेरिका, पश्चिमी यूरोप, जापान और यहां तक कि चीन जैसे देशों के लोगों की उम्र तेजी से बढ़ रही है जबकि भारत युवा होता जा रहा है।’ उन्होंने कहा कि सरकार की कौशल भारत पहल का उद्देश्य इस देश को 2022 तक दुनिया की कौशल राजधानी बनाना है।

स्वराज ने कहा कि भारत अब नवाचार और स्टार्ट-अप का देश है। उन्होंने कहा कि सिलिकॉन वैली में तकनीकी क्षेत्र में लगभग 16 प्रतिशत स्टार्टअप के साथ भारतीय प्रवासियों का योगदान अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों में सरकार ने बहुत से नियमों और विनियमों को खत्म किया है और इससे भारत में और निवेश का मार्ग प्रशस्त हुआ है। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्होंने राज्य में निवेश परिदृश्य में बदलाव के लिए कई प्रयास किये है। उन्होंने सभी एनआईआर को अपने पूर्वजों की भूमि पर निवेश के लिए आमंत्रित किया।

इसे भी पढ़ें: प्रवासियों को भा रहा भारत, प्रवासी दिवस के लिए अब तक हुआ 5802 लोगों का पंजीकरण

राठौर ने इस अवसर पर कहा कि हमारे प्रवासियों ने विदेशी धरती पर भारतीय संस्कृति को हमेशा से आगे बढ़ाया है और भारत की सफलता की कहानी में उनका उल्लेखनीय योगदान है। युवा प्रवासी भारतीय दिवस के मुख्य अतिथि नार्वे के सांसद हिमांशु गुलाटी और न्यूजीलैंड के सांसद कंवलजीत सिंह बख्शी थे। उत्तर प्रदेश प्रवासी भारतीय दिवस भी आयोजित किया गया जिसमें उन प्रसिद्ध एनआरआई ने भाग लिया जिनके परिवार की जड़े राज्य से जुड़ी हुई है। इस साल के प्रवासी भारतीय दिवस का विषय ‘नये भारत के निर्माण में प्रवासी भारतीयों की भूमिका’ है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video